आईपीएल-9 : राजकोट और पुणे दो नई टीमें, चेन्‍नई और राजस्‍थान रायल्‍स का स्‍थान लेंगी-P2N

By / 2 years ago / National, Sports / No Comments
आईपीएल-9 : राजकोट और पुणे दो नई टीमें, चेन्‍नई और राजस्‍थान रायल्‍स का स्‍थान लेंगी-P2N

नई दिल्‍ली: इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के वर्ष 2016 और 2017 के सत्रों के लिए पुणे और राजकोट की टीमों ने भी दस्तक दे दी है। नई दिल्ली में हुई नई नीलामी प्रक्रिया के बाद भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड (बीसीसीआई) ने घोषणा की कि उनकी टवेन्टी-20 चैम्पियनशिप आईपीएल में अब दो साल के लिए संजीव गोयनका की न्यू राइज़िंग (पुणे) तथा इन्टेक्स (राजकोट) नई फ्रेंचाइज़ी होंगी।

पुणे और राजकोट की ये टीमें आईपीएल की चैम्पियन रह चुकीं चेन्नई सुपरकिंग्स तथा राजस्थान रॉयल्स की जगह लेंगी, जिन्हें सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त जांच समिति ने इसी साल जुलाई में निलंबित कर दिया था, क्योंकि उनके मालिकों गुरुनाथ मय्यप्पन (चेन्नई) तथा राज कुंद्रा (राजस्थान) पर वर्ष 2013 में छठे सत्र के दौरान सट्टेबाजी करने और बुकीज़ को टीम की जानकारी देने के आरोप थे, और उन पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था।

इन दोनों नए शहरों का चुनाव ‘उलट बोली प्रक्रिया’ के तहत किया गया, जिसमें उस फ्रेंचाइज़ी का चयन किया जाता है, जो बीसीसीआई से सबसे कम हिस्से (मुख्यतः ब्रॉडकास्ट तथा स्पॉन्सरशिप अधिकारों से होने वाली कमाई में) की मांग करेगी। दिलचस्प तथ्य यह है कि संजीव गोयनका की न्यू राइज़िंग तथा इन्टेक्स (मोबाइल कंपनी) ने बीसीसीआई से कुछ भी नहीं मांगा है।

दरअसल, शुरुआती दौर में 20 से भी ज़्यादा कंपनियों ने टीमें खरीदने में रुचि दिखाई थी, और भरने के लिए अर्जियां ली थीं, लेकिन मंगलवार को अंतिम रूप से सिर्फ पांच बोलियां (bids) दाखिल की गईं। न्यू राइज़िंग बेहतरीन बोली के साथ चुनी गई, क्योंकि उसने बीसीसीआई को 16 करोड़ रुपये देने की पेशकश रखी थी, जबकि इन्टेक्स बीसीसीआई को 10 करोड़ रुपये देने के वादे के साथ दूसरे नंबर पर रही।

यह पहला मौका था, जब बीसीसीआई ने ‘उलट बोली प्रक्रिया’ अपनाई थी, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि टीमों का मूल्यांकन बेस कीमत 40 करोड़ रुपये से नीचे न चला जाए।

इस बोली प्रक्रिया के दौरान एक दिलचस्प बात यह रही कि चेन्नई की चेट्टिनाद सीमेंट की बोली को कामयाबी नहीं मिली। यह कंपनी जिस समूह की मिल्कियत है, उसका नेतृत्व बीसीसीआई के पूर्व अध्यक्ष एसी मुथैया कर रहे हैं। वैसे, चेन्नई सुपरकिंग्स की मालिक इंडिया सीमेंट्स नामक कंपनी थी, जिसके प्रबंध निदेशक (मैनेजिंग डायरेक्टर) विवादों में घिरे रहे पूर्व बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन थे, और गुरुनाथ मय्यप्पन इन्हीं श्रीनिवासन का दामाद है। वैसे, मुथैया को ही श्रीनिवासन को आगे बढ़ाने का श्रेय दिया जाता है, हालांकि अब दोनों के रिश्ते सामान्य नहीं रहे हैं।

ये टीमें न्‍यूनतम 40, अधिकतम 66 करोड़ में खरीद सकेंगी खिलाड़ी
अपनी टीमों के खिलाड़ियों के चयन के लिए अब ये टीमें ड्रॉफ्ट सिस्टम में भाग लेंगी, जो 15 दिसंबर को शुरू हो रहा है। चेन्नई और राजस्थान रॉयल्स के खिलाड़ियों को अब दो ग्रुप के ‘कैप’ और ‘अनकैप’ खिलाड़ियों में बांटा जाएगा। दोनों टीमें न्यूनतम 40 करोड़ रुपये और अधिकतम 66 करोड़ रुपये खर्च कर अपने लिए खिलाड़ी खरीद सकती हैं।

 

Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.