मोदी के मंत्री ने कहा- दादरी की घटना से मिला सबक, जल्द तोड़नी चाहिए थी चुप्पी

मोदी के मंत्री ने कहा- दादरी की घटना से मिला सबक, जल्द तोड़नी चाहिए थी चुप्पी
नई दिल्ली. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि दादरी कांड सरकार को सबक दे गया। मंगलवार को उन्होंने कहा कि हमें सीख मिली है कि सरकार को ऐसे मामलों में जल्द चुप्पी तोड़नी चाहिए। एक टीवी चैनल के प्रोग्राम में उन्होंने कहा, ”हम मानते हैं कि खानपान हर किसी की पर्सनल च्वाइस है। कोई भी किसी को आदेश नहीं दे सकता।”
क्या है दादरी कांड?
उत्तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के दादरी में बीफ खाने की अफवाह में भीड़ ने अखलाक नाम के शख्स की पीट कर हत्या कर दी थी। बता दें कि दादरी के कांड के बाद ही देश में मोदी सरकार इन्टॉलरेंस के मामले पर विरोधियों के निशाने पर है। लेखक, फिल्म जगत की हस्तियां अपना अवॉर्ड लौटा रही हैं।
जावड़ेकर ने और क्या कहा?
> जावड़ेकर ने राष्ट्रपति भवन तक कांग्रेस के मार्च की आलोचना की है। सोनिया और राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस के नेताओं ने राष्ट्रपति भवन तक मार्च किया था।
> उन्होंने कहा, ”देश में इन्टॉलरेंस की बहस छेड़ कर विरोधी पार्टी राजनीतिक पैंतरेबाजी कर रही है।” बता दें कि कांग्रेस इस मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर सवाल उठाती रही है।
शाहरुख पर विजयवर्गीय के बयान को नकारा
इन्टॉलरेंस पर बयान देने वाले एक्टर शाहरुख खान को बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने एंटी-नेशनल बताया था। प्रकाश जावड़ेकर ने इस कमेंट को दुखद बताया है। उन्होंने कहा कि विजयवर्गीय पार्टी के स्पोक्सपर्सन नहीं हैं।

Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.