अंधेर यूपी, सोयी सरकार, अब पीड़ितों पर भी शक करेगी योगी सरकार

अंधेर यूपी, सोयी सरकार, अब पीड़ितों पर भी शक करेगी योगी सरकार




दिल्ली(पल पल न्यूज)  सामूहिक बलात्कार के बाद एसिड अटैक से पीड़ित महिला पर एक बार फिर से एसिड से हमला होने पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि इन घटना जांच होनी चाहिए कि महिला पर वास्तव में कोई अटैक हुआ है कि नहीं.

आपको बता दें कि यूपी के रायबरेली जनपद की रहने वाली युवती के साथ पहले रेप हुआ था। रेप के बाद जालिमों ने युवती के ऊपर एसिड से हमला भी कर दिया। इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने युवती से मुलाकात की थी और हर संभव मदद का भरोसा जताया था।

 Twitter पर follow करें

रविवार (2 जून) को युवती के ऊपर जब दूसरी बार महिला के ऊपर एसिड से हमला हुआ तो सीएम योगी आदित्यनाथ ने एसिड हमले के आरोप पर संदेह व्यक्त करते हुए कहा, ‘घटना की जांच होनी चाहिए कि महिला पर वास्तव में कोई हमला हुआ है या नहीं।’

बता दें कि मुख्यमंत्री की प्रतिक्रिया ऐसे समय में आई है जब राजधानी लखनऊ के अलीगंज में रहने वाली एक महिला ने आरोप लगाया कि उसके ऊपर दो अज्ञात लोगों ने तेजाब से हमला किया। इसपर सीएम योगी वाराणसी में एक निजी चैनल से बात करते हुए कहा कि हमें यह देखने की जरूरत है कि क्या महिला पर सचमुच कोई हमला हुआ है। जांच चल रही है जल्द ही सबकुछ सामने आ जाएगा। मुझे लगता है कि आज देर शाम तक सारा सच सामने आ जाएगा कि महिला पर सचमुच कोई हमला हुआ है या नहीं।

कुर्मी और पटेलों का वोट लेकर उनको हिस्सेदारी नहीं दे रही BJP : हार्दिक पटेल

हमें पता चला है कि महिला पर छठी बार एसिड हमला किया गया है। कानून नागरिकों की सुरक्षा के लिए बनाए गए हैं। अगर कोई इनका गलत इस्तेमाल करता है तो उसे भी इसकी सजा दी जाएगी। दूसरी तरफ पुलिस ने मामले में जानकारी देते हुए बताया कि महिला के दाईं तरफ चेहरे और कंधे पर तेजाब फेंका गया है। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी के ट्रांमा सेंटर में महिला का इलाज किया जा रहा है।

सूत्रों के अनुसार पूर्व में भी महिला को बलात्कार और एसिड अटैक की धमकी दी जाती रही हैं, जिसे देखते हुए महिला की सुरक्षा में हथियारबंद पुलिस कांस्टेबल संदीप सिंह को तैनात किया गया था। वहीं महिला का आरोप कि साल 2008 में भी दो व्यक्तियों ने उसके साथ बलात्कार किया था। वहीं घटना के बाद रायबरेली पुलिस ने दो आरोपी भोंदू सिंह गुड्डू सिंह को हिरासत में लिया था हालांकि उन्हें बाद में जमानत पर रिहा कर दिया। महिला के अनुसार साल 2011 में भी उसपर तेजाब से हमला किया गया था। हालांकि बाद में सुप्रीम कोर्ट ने तेजाब की सार्वजनिक बिक्री पर रोक लगा दी।

वहीं ताजा घटना के बारे में जानकारी देते हुए अलीगंज के सर्किल ऑफिसर विवेक त्रिपाठी ने कहा, ‘बीती रविवार रात को महिला पर कथित तौर पर तेजाब से हमला किया गया। आरोपियों ने हॉस्टल की दीवार पर चढ़कर महिला के ऊपर के तेजाब फेंक दिया। वीडियो फुटेज की मदद से आरोपियों की पहचान करने की कोशिश की जा रही है।’ बता दें कि महिला लखनऊ में की निजी संस्था में काम करती है जोकि एसिट अटैक सरवाइवर्स द्वारा चलाई जाती है। सूत्रों के अनुसार महिला के पति और दो बच्चे रायबरेली में रहते हैं।

छत्तीसगढ़ में आदिवासियों की मदद करोगे तो जेल में ठूंस देगी BJP सरकार

आपको बता दें युवती से बलात्कार और उस पर एसिड अटैक करने वाले लोग ठाकुर जाति से जुड़े बताए जा रहे हैं। आपको बता दें यूपी के वर्तमान सीएम योगी आदित्यनाथ भी दबंग ठाकुर जाति से ही हैं। इसीलिए पुलिस भी महिला पर एसिड से अटैक करने वाले ठाकुर जाति के दबंगों पर कार्यवाही करने से डर रही है। आपको बता दें कि महिला पर अब तक 6 बार एसिड से हमला हो चुका है और ये बात स्वंम मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी जानते हैं. पर फिर भी सब कुछ जानते हुए उन्होंने ऐसा शर्मनाक बयान दे दिया।




Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.