मुझे गिरफ्तार किया, तो और तेज होगा आंदोलन- हार्दिक पटेल

मुझे गिरफ्तार किया, तो और तेज होगा आंदोलन- हार्दिक पटेल

विसनगर सेशन कोर्ट ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, लालजी पटेल और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है. यह वारंट साल 2015 में बीजेपी विधायक ऋषिकेश पटेल के कार्यालय में तोड़फोड़ करने के मामले में कोर्ट में पेश नहीं होने पर जारी किया गया है. इस मामले में हार्दिक लगातार दूसरी बार अदालत के समक्ष पेश नहीं हुए थे, जबकि लालजी पटेल की अदालत में पहली पेशी थी, जिसमें वह नहीं पहुंचे.

मंदसौर में सात किसानों की हत्या के बाद, हार्दिक पटेल के निशाने पर केंद्र की मोदी सरकार

बुधवार को आजतक से विशेष बातचीत में हार्दिक पटेल ने कहा, ‘इसी केस में मुझे पहले जमानत मिल चुकी है. मुझे न्यायालय पर पूरी विश्वास है. मैं आज अदालत की कार्यवाही में उपस्थित नहीं हो पाया था. हमारे खिलाफ उस समय गैर जमानती वारंट जारी कराया गया है, जब चुनाव की घोषणा हो चुकी है. अगर मेरी गिरफ्तारी होगी, तो हमारा आंदोलन और तेज होगा. इस आंदोलन में मेरे साथ लाखों हार्दिक हैं.’ उन्होंने यह भी कहा कि वह अदालत से इस गैर जमानती वारंट को रद्द करने की अपील करेंगे.

Facebook को लाईक करने के लिए यहां क्लिक करें-

हार्दिक पटेल ने कहा कि हमारी लड़ाई अपने अधिकारों के लिए है और प्रत्येक को अपने अधिकारों के लिए और अन्याय के खिलाफ लड़ना चाहिए. उन्होंने कहा, ‘मैं और जिग्नेश, अल्पेश सिर्फ राजनीति नहीं कर रहे हैं. हम मुद्दे उठा रहे हैं. उनको बताना चाहिए कि कांग्रेस का एजेंट कौन है…मैं या पूरा पाटीदार समुदाय? बीजेपी साफ-साफ नहीं बोल रही है. मैंने कई शीर्ष नेताओं से खुलेआम मुलाकात की है, लेकिन राहुल गांधी से नहीं मिला हूं. अब जल्द ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात करूंगा.’ उन्होंने कहा कि यह भीड़ मेरी ताकत है और मैं इनके एजेंट के रूप में लड़ाई लड़ूंगा.




हमारे You Tube  You Tube चैनलो से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें-

हार्दिक पटेल और लालजी पटेल पर साल 2015 में बीजेपी विधायक के कार्यालय में हमला करने में शामिल होने का आरोप है. विसनगर सत्र अदालत के न्यायाधीश वीपी अग्रवाल ने पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल , सरदार पटेल ग्रुप (एसपीजी) के संयोजक लालजी पटेल और पांच अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया. इन लोगों को पूर्व में मामले में जमानत मिल गयी थी.

गौरक्षा के नाम पर मुस्लिमों की हत्या स्वीकार नहीं : हार्दिक पटेल

राहुल गांधी से मुलाकात के सीक्रेट CCTV फुटेज को लेकर हार्दिक पटेल ने कहा कि उन्होंने मेरी निजी फुटेज को लीक करके निजता के अधिकार का उल्लंघन किया है. ये लोकतांत्रिक मूल्यों के खिलाफ है. हमें इसका बेहद दुख है. यह सब बीजेपी कर रही है. सभी की जासूसी करना बीजेपी का काम है. बीजेपी ने संजय जोशी और कुछ अन्य लोगों के खिलाफ भी ऐसा कर चुकी है. ओपिनियन पोल में बीजेपी की जीत के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनको ऐसे सर्वे में यकीन नहीं है. ओपिनियन पोल हमेशा गलत साबित होते हैं.




बुधवार को आरक्षण आंदोलन के नेता ने अपने वकील राजेंद्र पटेल के जरिये व्यस्त कार्यक्रम का हवाला देते हुए व्यक्तिगत पेशी से छूट देने की मांग को लेकर याचिका दायर की थी, लेकिन अदालत ने उसे खारिज कर दिया. वहीं, गहलोत और भरत सोलंकी ने कहा कि हार्दिक पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करना निंदनीय है. विसनगर की स्थानीय अदालत ने पाटीदार नेताओं के खिलाफ उस वक्त गिरफ्तारी वारंट जारी किया है, जब गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर घमासान जारी है.

admin

The author didn't add any Information to his profile yet.