दोनों किडनी फेल होने के बाद भी लड़की 65% से पास,खबर सुनते ही मिला डोनर

दोनों किडनी फेल होने के बाद भी लड़की 65% से पास,खबर सुनते ही मिला डोनर
ग्वालियर(पल पल न्यूज):  17 साल की अंशुल, कभी हैंडबॉल की स्टेट प्लेयर थी, अचानक उसकी दोनों किडनियां फेल हो गई और उसे दिल्ली के गंगाराम हॉस्पिटल में भर्ती किया गया। एक्जाम का समय पास आया तो डॉक्टर ने मना कर दिया। इसके बाद भी अंशुल ने हिम्मत नहीं हारी और एक्जाम देने शिवपुरी आ गई। रिजल्ट आया तो उसे 12वीं में 65 फीसदी अंक मिले। उसकी यह खबर पढ़कर एक व्यक्ति अपनी किडनी भी दान करने पहुंच गया।

Facebook पर हमें Like करें

मायावती जी आप राजनीति करो, दलितों की रक्षा मै करूंगा: आज़ाद रावण

शिवपुरी के एडवोकेट अजय गौतम की बेटी अंशुल 12वीं की स्टूडेंट है। अंशुल हैंडबॉल की स्टेट प्लेयर भी थी। पिछले साल नवंबर में उसकी तबीयत अचानक खराब हो गई। जब जांच हुई तो उसकी दोनों किडनियां फेल पाई गईं। अंशुल और उसकी फैमिली दुखी हो गई। समझ में नहीं आया कि क्या किया जाए। पिता अजय गौतम बेटी को लेकर दिल्ली के गंगाराम हॉस्पिटल ले गए और इलाज शुरू कर दिया।
अंशुल बताती है कि वह तो हिम्मत हारने लगी, लेकिन लगा कि यह सब कुछ सहन करके ही जिंदगी की जंग लड़नी है। हॉस्पिटल में उसका डायलिसिस से लेकर कई तरह का इलाज शुरू हो गया। अंशुल अब हैंडबॉल खेलने ग्राउंड में तो नहीं जा सकती थी, लेकिन स्टडी कर सकती थी। हॉस्पिटल के बेड पर लेटे हुए ही उसने अपनी पढ़ाई जारी रखी, लेकिन जब एक्जाम का समय आया तो डॉक्टरों ने कहा कि इलाज पहले, स्टडी बाद में।

Twitter पर follow करें

ICU से सीधे एक्जाम देने आई अंशुल
-यह सुनकर अंशुल फिर निराशा से घिर गई। उसने डॉक्टर से एक्जाम की अनुमति मांगी। लड़की की जिद देखते हुए डॉक्टर ने अनुमति दे दी, लेकिन नियमित डायलिसिस कराने के लिए कहा। एक्जाम के एक दिन पहले अंशुल दिल्ली से शिवपुरी आई और उसे अनुमति लेकर एक राइटर भी दिया गया। वह शिवपुरी के जिला हॉस्पिटल में डायलिसिस कराती और एक्जाम देने पहुंच जाती। जब सीबीएसई का रिजल्ट आया तो अंशुल ने एक्जाम में 65 फीसदी अंक प्राप्त किए। अंशुल कहती है कि इस सफलता ने उसे जीने की राह दिखाई है।

Youtube पर subscribe करें

अंशुल की कहानी पढ़कर किडनी डोनर घर पहुंचा
उधर अंशुल की खबर पढ़कर एक सेल्समैन राजकुमार उसके घर पहुंच गए और उसने अंशुल को अपनी एक किडनी देने का प्रस्ताव रखा। यह प्रस्ताव सुनकर अंशुल और उसके पिता खुश हैं।
अब जल्दी ही डॉक्टर किडनी डोनेट करने वाले राजकुमार और अंशुल के टेस्ट करेंगे और सब कुछ ठीक रहा तो एक किडनी अंशुल को मिल जाएगी।
किडनी दान करने वाले राजकुमार का कहना है कि खबर पढ़कर आत्मा के अंदर से आवाज आई कि इस लड़की के कुछ करना चाहिए और मैं पता पूछते हुए अजय गौतम के घर पहुंच गया और अब डॉक्टर टेस्ट करके किडनी लेंगे।

 palpalnews.in edit by: satyabha

https://www.youtube.com/watch?v=zmZczTxYlh8

Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.