झारखंड : बड़गड़ में नक्सलियों ने मुखबिरी का आरोप लगा 3 लोगों की हत्या की

झारखंड : बड़गड़ में नक्सलियों ने मुखबिरी का आरोप लगा 3 लोगों की हत्या की

बूढ़ापहाड़ में पिछल दिनों पुलिसिया एनकाउंटर से बौखलाए नक्सलियों ने गढ़वा जिले के भंडरिया क्षेत्र में रविवार की देर रात तीन ग्रामीणों की निमर्म हत्या कर दी। नक्सलियों ने तीनों को पुलिस का मुखबिर बताया है। वहीं नक्सलियों ने टेहड़ी गांव में एक परिवार का मोबाइल बजने पर छीन लिया और किसी को भी मोबाइल नहीं रखने की चेतावनी दी।




भंडरिया थाना क्षेत्र के बाड़ी खजूरी और टेहड़ी गांव में तीनों हत्याओं की जिम्मेदारी नक्सलियों ने पर्चा छोड़कर ली है। हत्या की कार्रवाई को पिछले 10 जुलाई को बूढ़ापहाड़ में पुलिस के साथ हुए एनकाउंटर का प्रतिशोध करार दिया है। घटना के संबंध में ग्रामीणों ने बताया कि रविवार आधी रात करीब 20 की संख्या में हथियारबंद नक्सलियों के दस्ते ने बाड़ी खजूरी मिशन के पास श्रवण को पकड़ा।

उसके बाद रस्सी से उसका गर्दन बांधकर कुदाल से उसकी निर्मम हत्या कर दी। घटना को अंजाम देने के बाद वहां से दो किलोमीटर दूर सभी माओवादी टेहड़ी गांव पहुंचे। वहां पहुंचने के बाद बिहारी यादव के घर को घेर कर उक्त घर से छत्तीसगढ़ के पुनदाग निवासी हीरालाल यादव और लातेहार के गारू निवासी शिवलाल यादव को कब्जे में ले लिया। दोनों को पकड़कर वहां से कुछ दूर अवस्थित राजबांध के पास ले गए। वहां दोनों की गोली मारकर हत्या कर दी गई।




मोबाइल नहीं रखने की दी चेतावनी
टेहड़ी गांव में ग्रामीणों की जहां हत्या की गई वहां से बरकोल पिकेट की दूरी महज डेढ़ किलोमीटर है। उक्त पिकेट में सीआरपीएफ की एक कंपनी तैनात है। क्षेत्र में नक्सलियों के होने की भनक जवानों को नहीं लगी। माओवादी रातभर बाड़ीखजुरी, परसवार और टेहड़ी गांव में ग्रामीणों को पिटाई करते रहे। टेहड़ी गांव से हीरालाल और शिवलाल को घर से अगवा कर ले जाने के क्रम गांव के शिवशंकर पनिका के मोबाइल की घंटी बज गई। मोबाइल की घंटी सुन नक्सलियों ने उसका घर खुलवाया और मोबाइल ले ली। साथ ही चेताया कि अपने पास मोबाइल मत रखो। उसके बाद उक्त परिवार भी दहशत में है।

admin

The author didn't add any Information to his profile yet.