JNU छात्र नजीब अहमद केस 9 आरोपियों का पॉलीग्राफी टेस्ट करायेगी सीबीआई

JNU छात्र नजीब अहमद केस 9 आरोपियों का पॉलीग्राफी टेस्ट करायेगी सीबीआई

नयी दिल्ली – दिल्ली स्थित जेएनयू के लापता छात्र नजीब अहमद का मामला पिछले पांच महीने से सीबीआई के हाथ मे है। सीबीआई के हाथ अभी तक इस मामले में खाली है। बीते बुधवार को सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेशटीगेशन (सीबीआई)  दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट से नजीब मामले के संदिग्धों का पॉलीग्राफी टेस्ट की इजाजत देने की मांग की.

इस मामले में नो आरोपियों के पॉलीग्राफी टेस्ट के लिए सीबीआई ने उन्हें समन जारी किया था. जिसमें सभी आरोपियों ने दिल्ली कोर्ट में पेश होकर पॉलीग्राफी टेस्ट की मंजूरी दे दी है. बताते चलें कि उत्तर प्रदेश के बदायूं के रहने वाले नजीब अहमद JNU में माही-मांडवी हॉस्टल के रूम नंबर 106 में रहता था. साल भर पहले इसी महीने की 14 अक्तूबर की रात को झगड़ा होने के बाद वह 15 अक्तूबर की सुबह JNU से अचानक गायब हो गया थ, जिसका अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है।




हमारे साथ Facebook पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें-

इस मामले में सभी 9 संदिग्ध आरोपी JNU के ही छात्र हैं. नजीब मामले के आरोपी छात्र भाजपा के छात्र विंग संगठन एबीवीपी से जुड़े हैं। बता दें कि इससे पहले नजीब की मां फातिमा नफीस की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट ने सीबीआई पर सख्त टिप्पड़ी की थी. हाईकोर्ट ने सीबीआई पर सख्त टिप्पणी करते हुए कहा था कि ’सीबीआई में नजीब मामले को लेकर दिलचस्पी का पूरी तरह अभाव’ है.




लगभग सात महीनों तक यह मामला दिल्ली पुलिस के पास रहा लेकिन जब दिल्ली पुलिस मामले में कोई सुराग नहीं लगा पाई तो दिल्ली हाईकोर्ट ने ये मामला सीबीआई को सौंप दिया था, सीबीआई को यह मामला लगभग पांच महीने पहले सौंपा गया था। इसी महीने की 14 तारीख को नजीब की मां ने सीबीआई मुख्यालय पर समाजिक संगठनों के साथ रात भर धरना दिया था।

हमारे साथ You Tube You Tube  पर जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें-

admin

The author didn't add any Information to his profile yet.