रोहित वेमुला की तरह जेएनयू के VC ने आरक्षण औऱ शिक्षा पर सवाल करने पर 15 छात्र सस्पेंड किए

रोहित वेमुला की तरह जेएनयू के VC ने आरक्षण औऱ शिक्षा पर सवाल करने पर 15 छात्र सस्पेंड किए

सोमवार को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की एकेडमिक काउंसिल की बैठक में हुए हंगामे को लेकर विश्वविद्यालय के 12 छात्रों को निलंबित कर दिया गया है। इस मामले में 2 पूर्व छात्रों की भी शिनाख्त कर ली गई है, जिनके खिलाफ विश्वविद्यालय प्रशासन ने सख्त कार्रवाई की बात कही है।

विश्वविद्यालय प्रशासन ने बताया कि छात्रों के खिलाफ यह कार्रवाई सुरक्षा विभाग की ओर से जारी रिपोर्ट के आधार पर की गई है। जिसमें इन छात्रों को ताला तोड़ कर हिंसात्मक ढंग से घटनास्थल के अंदर दाखिल होते साफ साफ देखा जा सकता है।



सोमवार शाम को जेएनयू प्रशासन ने एक विज्ञप्ति जारी कर एकेडमिक काउंसिल  के हंगामे की जानकारी दी। इस विज्ञप्ति में कहा गया है कि यूजीसी के पांच मई के गजट नोटिफिकेशन और दाखिला प्रक्रिया सहित अन्य विषयों पर बैठक में चर्चा हुई। बैठक ठीकठाक चल रही थी उसी बीच कुछ शिक्षकों ने इसमें बाधा डाली और पेपर फेंके।

JNU एडमिशन पर मोदी सरकार का शिकंजा अब गरीब,पिछड़े छात्रों के साथ होगा पक्षपात

वहीं एकेडमिक काउंसिल के एक अन्य सदस्य का कहना है कि पहली बार काउंसिल की बैठक दो दिन हुई है। पहले 23 दिसंबर को फिर 26 दिसंबर को। ऐसे समय में इस बैठक करने का क्या कारण है कि जब छुट्टियां चल रही हैं और कुलपति को जब इसका अधिकार नहीं है तो वह चयन समिति को कैसे बदल सकते हैं।

Facebook,Twitter और Youtube पर हमें फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें-

बता दें कि इस बैठक में शिक्षकों की नियुक्ति, पदोन्नति, फीस, नए कोर्स सहित अन्य कई मुद्दों पर चर्चा हुई लेकिन इसी बीच हंगामा भी जमकर हुआ।

Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.