उथप्पा और रसेल ने दिलाई केकेआर को जीत

उथप्पा और रसेल ने दिलाई केकेआर को जीत

कप्तान गौतम गंभीर और रोबिन उथप्पा की शतकीय साझेदारी और बाद में आंद्रे रसेल की उम्दा गेंदबाजी से कोलकाता नाइटराइडर्स ने आज यहां किंग्स इलेवन पंजाब पर सात रन से जीत दर्ज की आईपीएल नौ की अंकतालिका में शीर्ष स्थान हासिल किया।

गंभीर (45 गेंदों पर 54 रन) और उथप्पा (49 गेंदों पर 70 रन) ने पहले विकेट के लिए 13.3 ओवर में 101 रन की साझेदारी की लेकिन पिच धीमी थी और किंग्स इलेवन ने पावरप्ले की तरह डेथ ओवरों में भी अच्छी गेंदबाजी करके केकेआर को तीन विकेट पर 164 रन ही बनाने दिए। किंग्स इलेवन ने आखिरी पांच ओवरों में केवल 33 रन दिए जबकियूसुफ पठान (नाबाद 19) और आंद्रे रसेल (16) जैसे धुरंधर बल्लेबाज क्रीज पर थे।

रसेल ने हालांकि गेंदबाजी में कमाल दिखाया जिससे किंग्स इलेवन ने शुरू में ही तीन विकेट गंवा दिये। इससे उसके लिये लक्ष्य तक पहुंचना मुश्किल हो गया। ग्लेन मैक्सवेल ने 42 गेंदों पर 68 रन की तेजतर्रार पारी खेली लेकिन अन्य बल्लेबाज अपेक्षित प्रदर्शन नहीं कर पाये। अक्षर पटेल ने आखिर में सात गेंदों पर 21 रन बनाए लेकिन इससे हार का अंतर ही कम हो पाया। रसेल ने चार ओवर में 20 रन देकर चार विकेट लिए।

केकेआर की यह नौ मैच में छठी जीत है जिससे उसके 12 अंक हो गए हैं। गुजरात लायन्स के भी 12 अंक हैं लेकिन नेट रन रेट में वह केकेआर से पीछे है। किंग्स इलेवन की यह आठ मैचों में छठी हार है और उसके लिये अब शीर्ष चार में जगह बनाने की राह मुश्किल हो गयी है। किंग्स इलेवन अब भी अंकतालिका में अंतिम पायदान पर बना हुआ है।

किंग्स इलेवन के सामने बहुत बड़ा लक्ष्य नहीं था लेकिन रसेल ने शुरू में ही उसकी पारी लड़खड़ा दी। वेस्टइंडीज के इस आलराउंडर ने अपने शुरुआती दो ओवरों में केवल तीन रन दिये तथा मार्कस स्टोनिस और मनन वोहरा को लगातार ओवरों में पवेलियन की राह दिखायी। मोर्ने मोर्कल ने कप्तान मुरली विजय (6) का कीमती विकेट लिया जिससे स्कोर तीन विकेट पर 13 रन हो गया।

पहले चार ओवर में केवल एक चौका लगा था। रिद्विमान साहा (24) और मैक्सवेल ने अगले दो ओवरों में दो-दो चौके जड़कर पावरप्ले की समाप्ति पर स्कोर तीन विकेट पर 37 रन तक पहुंचाया। किंग्स इलेवन को इन दोनों से पारी संवारने की उम्मीद थी लेकिन पीयूष चावला ने साहा को बोल्ड कर दिया। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिये 40 रन जोड़े।

केवल तीन विदेशी खिलाड़ियों के साथ उतरे किंग्स इलेवन का स्कोर नौ ओवर के बाद चार विकेट पर 53 रन था। रन और गेंदों के बीच अंतर बढ़ रहा था। मैक्सवेल ने ऐसे में ब्रैड हाग और फिर चावला पर छक्के जड़कर किंग्स इलेवन के समर्थकों में जान भरी। उन्होंने हाग के अगले ओवर में छक्का और दो चौके लगाने के बाद 29 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया।

मैक्सवेल ने शाकिब अल हसन पर भी छक्का जमाया लेकिन आखिर में चावला ने मैक्सवेल को पगबाधा आउट करके केकआर को बड़ी राहत दिलायी। इस ऑस्ट्रेलियाई आलराउंडर ने अपनी पारी में छह चौके और चार छक्के लगाये।

अब जिम्मेदारी डेविड मिलर पर थी लेकिन उनका बल्ला कुंद पड़ा रहा और आखिर में रसेल ने उन्हें अपना तीसरा शिकार भी बना दिया। मिलर ने 18 गेंदों पर केवल 13 रन बनाये। मैक्सवेल ने उनके साथ पांचवें विकेट के लिये 70 रन जोड़े जिसमें मिलर का योगदान 11 रन था। जब वह आउट हुए तब किंग्स इलेवन को 15 गेंदों पर 35 रन की दरकार थी। अक्षर पटेल ने आते ही रसेल पर दो छक्के जड़कर मैच में रोमांच भर दिया। अंतिम ओवर में 12 रन की जरूरत थी लेकिन रसेल के इस ओवर में केवल चार रन गए और पटेल सहित तीन बल्लेबाज आउट हुए।

इससे पहले गंभीर और उथप्पा इन दोनों ने बड़े शाट खेलने के लिए केवल ढीली गेंदों का इंतजार किया लेकिन लगातार स्ट्राइक रोटेट करके गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों पर भी दबाव बनाए रखा। शुरू में गंभीर ने रन बनाने का बीड़ा उठाया। उन्होंनेमोहित शर्मा और मार्कस स्टोनिस का स्वागत दो-दो चौकों से किया। मुरली विजय ने पावरप्ले में ही बायें हाथ के अपने दोनों स्पिनरों अक्षर पटेल और स्वप्निल सिंह को आक्रमण पर लगा दिया था। आठ ओवर तक स्कोर केवल 51 रन पहुंचा था लेकिन इसके बाद केकेआर के दोनों सलामी बल्लेबाजों ने हाथ खोलने शुरू कर दिए।

उथप्पा ने अक्षर पर छक्के से शुरूआत की जबकि गंभीर ने स्वप्निल की गेंद छह रन के लिए भेजी। गंभीर ने ग्लेन मैक्सवेल पर चौका लगाकर आईपीएल में रिकार्ड 30वां अपने टी20 करियर का 43वां अर्धशतक पूरा किया। हालांकि इसके तुरंत बाद वह रन आउट हो गये। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और एक छक्का लगाया।

किंग्स इलेवन को संदीप शर्मा के इस ओवर में उथप्पा का विकेट भी मिल जाता लेकिन मोहित ने उनका कैच छोड़ दिया। उथप्पा ने भी इससे पहले चौके से अपने करियर का 26वां अर्धशतक पूरा किया था और फिर स्वप्निल पर स्लाग स्वीप से खूबसूरत छक्का जड़ा। अपनी पारी में छह चौके और दो छक्के लगाने वाले उथप्पा भी रन आउट होकर पवेलियन लौटे।

यूसुफ और रसेल को डेथ ओवरों में ताबड़तोड़ रन बनाने के लिए  भेजा गया था लेकिन संदीप और मोहित शर्मा दोनों ने आखिरी ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की और इन्हें बड़े शाट खेलने का मौका नहीं दिया। विजय ने अपने गेंदबाजों का अच्छा उपयोग किया। केकेआर के आउट होने वाले तीसरे बल्लेबाज रसेल भी पारी की आखिरी गेंद पर रन आउट हुए।

Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.