टैक्सी ड्राईवर की बेटी आर्शिया अंजुम बनी इसरो की वैज्ञानिक

टैक्सी ड्राईवर की बेटी आर्शिया अंजुम बनी इसरो की वैज्ञानिक





राजस्थान (पल पल न्यूज): राजस्थान के बांसवाड़ा में एंबुलेंस चला कर अपने परिवार का पेट भरने वाले आबिद खान की बेटी आर्शिया अंजुम ने इसरो की वैज्ञानिक बन कर न केवल देश और अपने परिवार का नाम रोशन किया है. बल्कि मिल्लत के सामने भी एक मिसाल पेश की है कि मेहनत और लगन के दम पर अपने इरादों में कामयाबी हासिल की जा सकती है.

 सितंबर 2015 से इसरो के अहमदाबाद सेंटर में सैटेलाईट के पेलोड्स के बनने और सैटेलाइट में इसके उपयोग की जांच करने का जिम्मा संभाल रही अर्शिया अपने काम के बारे में बताते हुए कहती है कि उनका ये काम करते हुए कभी कभी 24 घंटे हो जाते है और पता ही नहीं चलता कि दूसरा दिन हो गया है. स्पेस सेंटर में जब वर्किंग होती है, तो पूरा फोकस टारगेट पर होता है, लेकिन इस बात की संतुष्टि होती है कि हम जो कुछ कर रहें हैं, वह आने वाले समय में देश का भविष्य होगा.

 Facebook और  You Tube पर हमें फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें-

अर्शिया के मुताबिक जब तक पोलोड्स सही काम करेगा, तो लाखो करोड़ो रूपए से बना सैटेलाइट अपने लक्ष्य पर नहीं पहुंच पाता है. अर्शिया अपनी कौम की बेटियों की तालीम को लेकर कहती है कि हर बेटी में इस बात की जिद होनी चाहिए कि वह कुछ कर सकती है. साथ ही सके माता-पिता को प्रोत्साहित करना चाहिए.

satyabha

The author didn't add any Information to his profile yet.