ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई ‘जिहाद’ है: सऊदी मुफ्ती

ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई ‘जिहाद’ है: सऊदी मुफ्ती





रियाद: सऊदी अरब के मुफ्ती ए आज़म और इस्लामिक रिसर्च कौंसिल के अध्यक्ष अल शेख अब्दुल अजीज बिन अब्दुल्ला ने ड्रग्स को रोकने के लिए प्रभावी प्रयास करने की जरूरत पर जोर दिया है, और कहा है कि ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई ‘जिहाद’ है।

अलअरबिया डॉट नेट के अनुसार सऊदी मुफ्ती का कहना है कि ‘क़ात’ नामक बूटी ड्रग्स ही की एक प्रकार है। अन्य नशीली वस्तुओं की तरह इसका उपयोग, प्रचार और व्यापार हराम है।

उन्होंने कहा कि ड्रग के परिणामस्वरूप मानव बुद्धि और शारीरिक कौशल नष्ट हो जाती हैं, जो सऊदी समाज के लिए क़ातिल ज़हर है। राज्य के सभी संस्थानों और जनता को मिलकर इस ज़हर को फैलने से रोकना होगा।

Facebook पर हमें फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें-

रियाद में ‘ड्रग्स रोकथाम और उसके शरई पहलू’ शीर्षक से आयोजित एक सेमिनार को संबोधित करते हुए सऊदी मुफ्ती ने कहा कि ड्रगस इंसानियत के विनाश की योजना है और इसके खिलाफ युद्ध ‘जिहाद’ है।

सऊदी मुफ्ती ने ड्रग्स रोकथाम के लिए सिक्यूरिटी बलों और ‘नब्रास’ ‘एंटी ड्रग कार्यक्रम सेवाओं को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने नब्रास को एंटी ड्रगस का सबसे अच्छा ‘राजदूत’ करार दिया।




शैख ऑले शैख ने ड्रग्स के फैलाव को रोकने के लिए जनता में जागरूकता बढ़ाने के अभियान पर जोर दिया और कहा कि उलेमा, मीडिया और सऊदी जनता के सभी वर्ग सुरक्षा एजेंसियों के साथ ड्रग्स के धंधे को रोकने के लिए अपना किरदार निभाएं।

Nadeem Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.