अलवर की बलवान पुलिस का शर्मनाक बयान बोल गौरक्षक नहीं थे उमर खान के हत्यारे

अलवर की बलवान पुलिस का शर्मनाक बयान बोल गौरक्षक नहीं थे उमर खान के हत्यारे

राजस्थान में गौरक्षकों के हाथों मारपीट में पहलू खां की मौत के साढ़े सात महीने बाद सुर्खियों में आई उमर खान की हत्या मामले में चौंकाने वाला सच सामने आया है. अलवर में ही शुक्रवार को हुई इस हत्या को अंजाम देने वाले गौरक्षक की तर्ज पर वारदातों को अंजाम देने वाले लुटेरे थे.

अलवर पुलिस के अनुसार गौरक्षकों के नाम पर 6 बदमाशों का यह गैंग लूट और नकबजनी की वारदतों में लिप्त है. इनमें से एक युवक कल्लू उर्फ कल्या को हिरासत में ले लिया गया है और अन्य की तलाश जारी है.




प्रदेश हरियाणा बॉर्डर पर स्थित अलवर जिले में पहलू कांड की तर्ज पर गोपालक की हत्या के चर्चा में आने के बाद लुटेरों का यह सच चौंकाने वाला है. इसमें गौ रक्षा के नाम पर लुटेरी गैंग के 6 बदमाशों ने गाय ले जा रहे तीन मुस्लिम गौपालकों के साथ मारपीट की और इसमें एक मुस्लिम युवक की मौत हो गई. जबकि दूसरा भागने में कामयाब हो गया लेकिन उसको गोली लगी है. घायल युवक का हरियाणा के अस्पताल में इलाज चल रहा है.

हत्या के बाद लूट ले गए टायर और इंजन के पार्ट्स

जानकारी के अनुसार लूट की वारदात को अंजाम देने के बाद बदमाशों ने पकड़े जाने के डर से उमर खां की हत्या कर शव को रेलवे पटरी पर डाल दिया था. इसके बाद गाड़ी के टायर और इंजन के पार्ट्स चोरी कर फरार हो गए. पुलिस की पूछताछ में सामने आया है की यह गैंग गौरक्षक बनकर कर लूट की वारदात को अंजाम देती है.

हमारे साथ जुड़ने के लिए नीचे दिए गए लिंको पर क्लिक करें-

Facebook 

You Tube

You Tube

यह है पूरा घटनाक्रम
अलवर जिले से पिकअप(जीप) में गाय लेकर भरतपुर के घाटमिका गांव जा रहे 3 गाय लेकर मुस्लिम युवकों की शुक्रवार को तड़के तीन बजे के करीब मारपीट की गई. इसी बीच गोली मार कर उमर खान की हत्या कर दी गई और शव को जाटों का बास के समीप रेलवे पटरी पर पटक कर चले गए. जबकि ताहिर का हरियाणा के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. जावेद उर्फ जफ्फार ड्राइवर ने घायल को इलाज के हरियाणा के नूह में निजी अस्पताल में भर्ती कराया था.जबकि मृतक उमर के शव को अलवर के राजीव गांधी सामान्य चिकित्सलाय की मोर्चरी में रखवाया गया.

परिजनों ने हत्या की उच्चस्तरीय जांच की मांग
मामले की सूचना के बाद बड़ी संख्या में मेव समाज के लोग अलवर के राजीव गांधी सामान्य चिकित्सालय पहुंचे. उन्होंने शव की पहचान की और मेव समाज के लोगों ने आरोप लगाया है कि पुलिस के साथ हिंदूवादी संगठन के लोगों ने गाय लेकर जा रहे युवकों को मारपीट की इसके बाद गोली मार कर हत्या की गई और अंगभंग किया गया है. समाज के लोगों ने मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है. इस मामले की रिपोर्ट गोविंदगढ़ थाने में हत्या का मुकदमा दर्ज करवाया गया. लोगों ने आरोप लगाया है कि हत्या कर शव को रेलवे पटरी पर डाला गया है ताकि शव की शिनाख्त नहीं हो सके.




डॉक्टरों की हड़ताल के चलते जयपुर में पोस्टमार्टम
गोविंदगढ़ थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. मृतक के चाचा इलियास ने पुलिस में मामला दर्ज करवाया है कि उसका भतीजा उमर मोहम्मद ताहिर और जावेद के साथ गाय लेकर जा रहा था तभी कुछ गौरक्षकों ने उनके साथ मारपीट की ओर मारपीट के दौरान उन्होंने एक युवक का नाम राकेश पुकारा था. अन्य लोगों की पहचान उनके पास नहीं है. डाक्टरों की हड़ताल की वजह के शव को पोस्टमार्टम के लिए जयपुर एसएमएस अस्पताल के लिए भेज दिया गया.

गाय लेकर जा रहे तीन लोगों के साथ मारपीट और हत्या के मामले एक युवक कल्लू उर्फ कल्या को हिरासत में लिया है. इस घटना को 6 लोगों ने अंजाम दिया था. ये लोग गौ रक्षा के नाम पर लूट की घटनाओं को अंजाम देते हैं. कल्लू इनका मुख्य सरगना है और उसके अन्य साथियों की तलाश की जा रही है.

— राहुल प्रकाश, पुलिस अधीक्षक, अलवर

Khushboo Akhtar

The author didn't add any Information to his profile yet.