अकाली सरपंच दलितों को तड़पाने के लिए उनके गुप्तांगों पर लगाता था करंट …

अकाली सरपंच दलितों को तड़पाने के लिए उनके गुप्तांगों पर लगाता था करंट …

तरनतारन। पंजाब के तरनतारन जिले में एक अकाली सरपंच ने सात दलितों के साथ ऐसा अमानवीय व्यवहार किया जिसे सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। अकाली नेता इन दलितों को बंधक बनाकर अपनी हवेली में रखता था। खाने में रोटी मांगने पर गोबर दिया जाता था तथा तड़पाने के लिए इनके गुप्तांगों पर करंट लगाई जाती थी। आरोप है कि अकाली सरपंच के इस काम में पुलिस भी साथ देती थी। 

क्या है मामला?

दरअसल ठट्ठगढ़ गांव के अकाली सरपंच की तीन माह पहले करीब 12 पशु चोरी हो गए। सरपंच की शिकायत पर पुलिस ने काफी खोजबीन के बाद सभी पशुओं को बरामद कर लिया। इधर सरपंच का शक गांव के दलितों पर जाने लगा और उसने इन लोगों को सबक सिखाने की ठान ली। सरपंच ने अपनी हवेली को टॉर्चर सेंटर में बदल दिया। 

खिलाया जाता था गोबर

सरपंच के पाले हुए गुंडें गांव के हरपाल सिंह, निर्मल सिंह, दिलबाग सिंह, बलविंदर सिंह, भिंदर सिंह, बिक्कर सिंह और अमन सिंह सहित सात दलितों को उठाकर हवेली ले आए। यहां बंधक बनाकर सरपंच के टॉर्चर सेंटर में उन्हें यातनाएं दी जाती। रोटी मांगने पर उन्हें गोबर खिलाया जाता था और गुंडों के टॉर्चर पर चिल्लाने पर उनके गुप्तांगों में करंट लगाई जाती थी।  

पुलिस भी देती थी सरपंच का साथ

पीड़ितों का आरोप है कि 28 मई की शाम को सरपंच के लोगों ने सभी लोगों को उठा लिया। पीड़ितों ने बताया कि दिन में सरपंच कहर ढहाता और रात को वह सभी को अमृतसर के फताहपुर पुलिस चौकी में बंद कर देता था। चौकी में भी पुलिस अत्याचार करती थी। पुलिस वाले रोजाना कोरे कागजों पर साइन करवा लेते थे।

admin

The author didn't add any Information to his profile yet.