ऑस्ट्रेलिया छठी बार जीता महिला टी20 वर्ल्ड कप का ख़िताब, फ़ाइनल में दक्षिण अफ़्रीका को 19 रन से हराया

यह मुकाबला केप टाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेला गया। ऑस्ट्रेलिया ने महिला टी20 विश्व कप के फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को 19 रन से हराकर छठी बार खिताब अपने नाम किया।

Share
Written by
27 फरवरी 2023 @ 15:00
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
australia

ऑस्ट्रेलिया ने लगातार छठी बार महिला टी20 वर्ल्ड कप का खिताब जीत लिया है। फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका को 19 रनों से हरा दिया। केप टाउन के न्यूलैंड्स स्टेडियम में खेले जा रहे फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया की कप्तान मेग लैनिंग ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। टीम ऑस्ट्रेलिया ने 20 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 156 रन बनाये। ऑस्ट्रेलिया की ओर से बेथ मूनी ने सर्वाधिक नाबाद 72 रन बनाये। जवाब में दक्षिण अफ्रीका की टीम 20 ओवरों में 6 विकेट के नुकसान पर 137 रन ही बना पाई। इस तरह ऑस्ट्रेलिया ने 19 रनों से ये मैच जीत लिया।

ऑस्ट्रेलियाई टीम इससे पहले 2010, 2012, 2014, 2018 और 2020 में चैंपियन बन चुकी है। ऑस्ट्रेलियाई टीम ने दूसरी बार महिला टी20 विश्व कप में खिताबी हैट्रिक लगाई है। इससे पहले टीम ने 2010, 2012 और 2014 में लगातार तीन बार खिताब जीते थे। वहीं, अब 2018, 2020 और 2023 में खिताब जीते हैं। पुरुष या महिला क्रिकेट मिलाकर पहली बार किसी टीम ने आईसीसी टूर्नामेंट में दूसरी बार खिताबी हैट्रिक लगाई है।

ऑस्ट्रेलियाई बेथ मूनी ने 53 गेंद में 9 चौकों और 1 छक्के से नाबाद 74 रन की पारी खेलने के अलावा एलिसा हीली (18) के साथ पहले विकेट के लिए 36 और एश्ले गार्डनर (29) के साथ दूसरे विकेट के लिए 46 रन की साझेदारी की। ऑस्ट्रेलिया को अंतिम ओवर में रन गति में इजाफा करने के लिए जूझना पड़ा। कप्तान मेग लैनिंग 11 गेंद में 10 रन बनाने के बाद कैप की गेंद पर ट्रायोन को कैच दे बैठीं। मूनी ने कैप पर चौके साथ 44 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। मूनी ने अंतिम ओवर में इस्माइल की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़ा।

फाइनल मुकाबले का दबाव साउथ अफ्रीकी महिला टीम की ओपनिंग जोड़ी पर साफ तौर पर देखने को मिला। टीम की शुरुआती 6 ओवरों में रन गति काफी धीमी देखने को मिली. पहले 10 ओवरों तक साउथ अफ्रीकी महिला टीम 2 विकेट के नुकसान पर 52 के स्कोर तक ही पहुंचने में कामयाब हो सकी। यहां से लौरा वोलवार्ड ने एक छोर से तेजी के साथ रन बनाने का सिलसिला शुरू किया।

एक समय जब सभी को लगा कि अफ्रीका टीम इस मैच को अपने नाम कर सकती है उसी वक्त ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज मेगन शूट ने वोलवार्ड को 61 के निजी स्कोर एलबीडब्ल्यू आउट करने के साथ अपनी टीम की मैच में पूरी तरह से वापसी करा दी। अफ्रीकी महिला टीम इस मैच में 6 विकेट के नुकसान पर 137 रन ही बनाने में कामयाब हो सकी। ऑस्ट्रेलिया की तरफ से गेंदबाजी में मेगन शूट, जेस जोनासन, एश्ले गार्डनर और डार्सी ब्राउन ने 1-1 विकेट हासिल किया।

आप को बता दें कि ये मुकाबला इस मायने में भी ऐतिहासिक था कि पांच बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया अपने खिताब की रक्षा के लिए उतरी थी और उसके सामने मेजबान साउथ अफ्रीका अपने क्रिकेट इतिहास में पहली बार कोई सीनियर टीम वर्ल्ड कप फाइनल खेल रही थी। पहले सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 5 रन से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी, जबकि दूसरे सेमीफाइनल में मेजबान साउथ अफ्रीका ने इंग्लैंड को चौंकाते हुए करारी शिकस्त दी और पहली बार फाइनल में जगह बनाई।

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें