मुझे भारत भेजा गया तो कर लूंगा आत्महत्याः नीरव मोदी

नीरव मोदी को लंदन के होल्बोर्न इलाक़े से 19 मार्च को गिरफ़्तार किया गया था

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
7 नवंबर 2019 @ 15:33

नई दिल्ली: लंदन की अदालत में एक बार फिर ज़मानत याचिका ख़ारिज किए जाने के दौरान भारत के हीरा कारोबारी नीरव मोदी ने कोर्ट में कहा कि अगर उन्हें भारत प्रत्यर्पित किया गया तो वे आत्महत्या कर लेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि भारत में उन्हें निष्पक्ष ट्रायल की उम्मीद नहीं है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया ने अपने पहले पन्ने पर यह ख़बर दी है कि.ध्यान रहे कि लंदन की एक अदालत ने एक बार फिर भारत के हीरा कारोबारी नीरव मोदी की ज़मानत याचिका खारिज कर दी है.पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी नीरव मोदी की ओर से दायर ज़मानत याचिका की अर्जी पर ब्रिटेन में सुनवाई हुई. इससे पहले अदालत चार बार नीरव मोदी की ज़मानत याचिका खारिज कर चुकी है.

लंदन में बीबीसी संवाददाता गगन सब्बरवाल ने बताया कि चीफ़ मजिस्ट्रेट की अदालत में नीरव मोदी के वकील ने ज़मानत के लिए 4 मिलियन पाउंड की पेशकश की. इस पर क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस (सीपीएस) के वकील ने कहा कि मोदी अब मुचलके के रूप में 4 मिलियन पाउंड की पेशकश कर रहे हैं. लेकिन नीरव नोदी ने इस धनराशि का स्रोत नहीं बताया है. नीरव मोदी ने कहा कि वो 12 घंटे के लिए सुरक्षा कर्मी रखने के लिए तैयार हैं. साथ ही सुरक्षा टैग भी पहनने को तैयार हैं.सरकारी वकील ने कहा कि ये काफ़ी नहीं है, नीरव मोदी 12 घंटे के लिए नज़रबंदी की बात नहीं कर रहे हैं इसका मतलब ये है कि वो बाहर जा सकते हैं और सुरक्षा कर्मी के जाने के बाद वो भाग सकते हैं फिर जो चाहे वो कर सकते हैं. नीरव मोदी के वकीलों ने यह भी कहा कि नीरव मोदी इस बात से दुखी हैं कि उनकी डॉक्टरों की रिपोर्ट लीक हो गई और उनकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. जेल के अंदर स्थितियां और भी बदतर हो गईं और साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि कैसे मोदी पर हमला किया गया था और अन्य कैदियों द्वारा जेल के अंदर धमकी दी गईं.

मुख्य मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बुटनोट ने सुनवाई करते हुए कहा कि चूंकि नीरव मोदी पर बड़ी धोखाधड़ी का मामला है, इसलिए वो ज़मानत नहीं दे सकतीं. और उनके पास बहुत सारा धन है जो उन्हें फरार बना सकता है. नीरव मोदी को लंदन के होल्बोर्न इलाक़े से 19 मार्च को गिरफ़्तार किया गया था जिसके बाद उन्हें लंदन के वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया गया था. वह करीब 7 महीने से लंदन की वांड्सवर्थ जेल में हैं. लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उनके ख़िलाफ़ वॉरेंट जारी किया था जिसके बाद उन्हें गिरफ़्तार किया गया था. मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से क़रीब 13 हज़ार करोड़ रुपए का कर्ज़ लेकर न चुकाने के आरोप हैं. इसे भारत का सबसे बड़ा बैंक घोटाला भी माना जाता है. इस घोटाले में हीरा व्यापारी नीरव मोदी के अलावा उनकी पत्नी ऐमी, उनके भाई निशाल, और रिश्तेदार मेहुल चोकसी मुख्य अभियुक्त हैं. बैंक का दावा था कि इन सभी अभियुक्तों ने बैंक के अधिकारियों के साथ साज़िश रची और बैंक को नुकसान पहुंचाया. पंजाब नेशनल बैंक ने जनवरी में पहली बार नीरव मोदी, मेहुल चोकसी और उनके साथियों के ख़िलाफ़ शिकायद दर्ज कराई. इस शिकायत में उन पर 280 करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया गया था. 14 फ़रवरी को आंतरिक जांच पूरी होने के बाद पंजाब नेशनल बैंक ने बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को इस फ़र्ज़ीवाड़े की जानकारी दी. ये भारत का सबसे बड़ा बैंकिंग घोटाला था. इस मामले में नीरव मोदी और चोकसी अभियुक्त हैं.

Click on the ad to support Pal Pal News