सोशल डिस्टनिंग की ऐसी तैसी और चुल्हे में जाए मॉस्क

सोशल डिस्टनिंग की ऐसी तैसी और चुल्हे में जाए मॉस्क : हैदराबाद में अमित शाह का रोड शो

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
30 नवंबर 2020 @ 08:22
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Amit Shah Pal Pal News

आम आदमी की कोई पूंछ नहीं, जिए या मरे अपनी बला से, जब से कोरोना ने दर्शन दिए हैं, तभी से सरकारें जनता को भयभीत करती आ रही हैं, एक से बड़ा एक विशेषज्ञ, वैज्ञानिक नेता अपने देश में मौजूद हैं ही, तो उनके पास हर समस्या, बीमारी का इलाज मौजूद है, सरकार के आलावा बाबा, सन्यासी, लफंडर टाइप के बकैत भी मौजूद हैं जो एयर पोर्ट पर विदेशों से आने वाले यात्रियों को गौ मूत्र पिला कर कोरोना से बचाना चाहते थे, कुछ गोबर में पलटियां मार कर कोरोना से बचाव कर लेते हैं, गोबर खाने से और गौ मूत्र पीने से कोरोना ख़त्म हो जायेगा, ऐसा अगर नहीं माना तो ये दिव्या ज्ञान का अपमान होगा जो कदापि बर्दाश्त नहीं किया जा सकता

जब चुनाव होते हैं तब कोरोना का जान लेवा वायरस वहां से अज्ञातवास में प्रस्थान कर जाता है, वैसे भी कोरोना राष्ट्रवादियों का कुछ नहीं बिगाड़ सकता, कोरोना को तो मुसलमानों, किसानों, ग़रीबों, मजदूरों, बेरोज़गारों, महिलाओं, मासूम बच्चों ने फैलाया है

हैदराबाद में नगर निकाय के चुनाव हैं, जिनको जीतने के लिए बड़े बड़े नेता पहुँच रहे हैं, रोड शो हो रहे हैं, वहां भीड़ जुट रही है, इस भीड़ को न कोरोना की चिंता है, न कोरोना का खौफ है, वो मज़े से ज़िंदाबाद, ज़िंदाबाद के नारे लगा रही है, एक के ऊपर एक चढ़ा जा रहा है, सोशल डिस्टनिंग की ऐसी तैसी, और चुल्हे में जाए मॉस्क, चुनावों में कोरोना को लेकर सारे नियम धरे रह जा रहे हैं

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम का चुनाव राष्ट्रीय राजनीति का केंद्र बन चुका है। भाजपा ने इस बार ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुस्लिमीन यानी एआईएमआईएम के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी को उनके गढ़ में पछाड़ने की तैयारी की है। इसलिए पार्टी के दिग्गज नेता वहां प्रचार के लिए पहुंच रहे हैं। आज प्रचार का आखिरी दिन है। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के बाद रविवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह यहां पहुंच गए हैं।

विधानसभा चुनाव से पहले का टेस्ट है निकाय चुनाव

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम चुनाव 2020 को वर्ष 2023 के तेलंगाना विधानसभा चुनाव से पहले का टेस्ट माना जा रहा है। यही वजह है कि भाजपा ने राज्य के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव की टीआरएस और असदुद्दीन ओवैसी की एआईएमआईएम के खिलाफ अपने दिग्गज नेताओं की फौज को उतार दिया है। बता दें कि राज्य में राव की पार्टी तेलंगाना राष्ट्र समिति की सरकार और उसके ओवैसी की एआईएमआईएम के साथ दोस्ताना रिश्ते हैं। 

चार जिले, 24 विस सीटें व पांच लोस सीटें

ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम देश के बड़े नगर निगमों में से एक है। इस नगर निगम का कार्यक्षेत्र चार जिलों में फैला है। इसमें हैदराबाद, रंगारेड्डी, मेडचल-मलकजगिरी और संगारेड्डी आते हैं। इस इलाके में 24 विधानसभा क्षेत्र और तेलंगाना की पांच लोकसभा सीटें आती हैं। नगर निगम के 150 पार्षद के चुनाव हो रहे हैं। ओवैसी की पार्टी ने मात्र 51 सीटों पर प्रत्याशी मैदान में उतारे हैं, जबकि भाजपा, कांग्रेस व टीआरएस ने सभी सीटों पर।

एक दिसंबर को मतदान, 4 को गणना

यही कारण है कि नगर निगम चुनाव में केसीआर से लेकर भाजपा, कांगेस से लेकर ओवैसी ने अपनी ताकत झोंक दी है। यहां एक दिसंबर को वोट डाले जाएंगे और चार दिसंबर को मतगणना होगी।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें