जंगलराज बुलेटिन 14-01-2021 : महिला की जीभ और स्तन काटे प्राइवेट पार्ट में ठूंसा बेलन

दिल दहला देने वाली यह घटना मध्यप्रदेश के जंगलराज की है।

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
14 जनवरी 2021 @ 11:28
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
crime up-mp pal pal news

मध्य प्रदेश के नागदा में क्रूरता की सारी हदें पार करते हुए एक पति ने अपनी पत्नी को अधमरा करके छोड़ दिया। चरित्र शंका के चलते पहले घर में बंद करके बेरमही से महिला के साथ मारपीट की, उसकी जीभ, स्तन और गाल काट दिए।

पति तलवार लहराता हुआ बाहर निकला और लगभग 10 मिनट तक घर के आसपास तलवार लिए घूमता रहा। इस अपराध में सास-ससुर और अन्य महिला रिश्तेदार ने साथ दिया। इसके बाद इतना ही नहीं महिला को मरा हुआ समझकर घर के बाहर फेंक दिया और फरार हो गए जहां खून से लथपथ वह दर्द से तड़पती रही।

दिल दहला देने वाली यह घटना विद्यानगर क्षेत्र मंगलवार सुबह की है। वहीं अपराधियों के हौसलों को देखकर क्षेत्रवासी भी तमाशबीन की तरह दूर से ही महिला के साथ हो रही इस क्रूरता का नजारा देखते रहे लेकिन किसी ने भी उसे बचाने की हिम्मत नहीं दिखाई।

महिला को मरा समझकर जब आरोपी फरार हो गए तो लोगों ने उसे इंदौर रैफर किया है, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। मामले में बिरलाग्राम थाना पुलिस ने पति, सास-ससुर व एक अन्य महिला रिश्तेदार के खिलाफ प्राणघातक हमले का प्रकरण दर्ज किया है।

crime

जानकारी के मुताबिक, विद्यानगर निवासी राजेश की शादी 15 साल पहले हुई थी उसके 14 व 5 वर्षीय दो बेटे भी है। राजेश ट्रक ड्राइवर है और ज्यादातर घर से बाहर ही रहता है। राजेश को अपनी पत्नी(35) के चरित्र पर शक था। वहीं जब वह कुछ दिनों बाद घर पहुंचा तो उसकी पत्नी किसी रिश्तेदार के जहां गई हुई था। इससे राजेश इतना भड़क गया कि उसने अपने माता-पिता और मासी के साथ मिलकर पत्नी की हत्या की साजिश रचा ली।

राजेश और उसके माता-पिता व मासी की क्रूरता का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन्होंने पहले तलवार व अन्य हथियार से महिला की जीभ, गाल, जबड़ा और एक स्तन काट दिया। एक बेलन भी महिला के मुंह और प्राइवेट पार्ट में घुसाया। इसके बाद उसके साथ मारपीट की महिला अपनी जिंदगी को बचाने के लिए चिखती रही, चिल्लाती रही लेकिन कोई उसे बचाने नहीं आया।

महिला को अधमरा करके उसे घसीटते हुए घर के बाहर ले आए। महिला की चीख पुकार सुनकर आस पास के लोग इक्ट्ठे हो गए, लेकिन किसी के उसे बचाने की हिम्मत नहीं हुई। वारदात के बाद आरोपियों ने घर के अंदर खून साफ किया और सारे सबूत मिटाकर खून से लथपथ महिला को मरा हुआ समझकर घर के बाहर ही फेंक कर फरार हो गए।

इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई और मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा मौके पर पहुंचे। 35 वर्षीय घायल महिला तब तक जीवित थी। आरक्षक जितेंद्र सेंगर व यशपाल सिंह सिसौदिया की मदद से उसे पहले जनसेवा अस्पताल पहुंचाया गया।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें