50 साल बाद इस देश में कायम हुई पहली मस्जिद

कई दशकों तक, स्लोवेनिया के पास एक भी मस्जि’द नहीं थी

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
14 जनवरी 2021 @ 13:41
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Slovenia

कई दशकों तक, स्लोवेनिया के पास एक भी मस्जि’द नहीं थी क्योंकि उसकी एकमात्र मस्जिद विश्व यु’द्ध I के बाद ध्वस्त हो गई थी।

स्लोवेनि’याई मुसल’मानों ने अपनी पहली म’स्जिद बनाने के लिए 1964 में एक याचिका दायर की सोमवार को और 50 से अधिक सालों के बाद स्लोवेनि’या की पहली मस्जि’द वित्तीय बाधाओं और दक्षिणपंथी विरोध पर काबू पाने के लिए राजधानी लजुब्जाना में खुली बिजनेस रिकॉर्डर ने बताया।

masjid

इस्ला’मिक कम्युनिटी के प्रमुख मुफ्ती नेदज़ाद ग्रेबस ने कहा कि म’स्जिद का उद्घाटन हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण मोड़ था उन्होंने कहा, “स्लोवे’निया एक म’स्जिद पाने वाला अंतिम पूर्व यूगो’स्लाव राज्य है, जिसने दुनिया के किनारे पर प्रांतीय शहर के बजाय लजुब्लाजना को एक राजधानी बना दिया निर्माण, जो 2013 में शुरू हुआ, कुछ 34 मिलियन यूरो की लागत आई, जिसमें से 28 मिलियन यूरो ज़कात से आये थे।

अब तक, मुसल’मान किराए के स्पोर्ट्स हॉल या इमारतों में बन’माज़ अदा करते रहे हैं और समारोह आयोजित करते रहे हैं मुस्लि’मों ने पिछले 2002 की जनगणना के अनुसार, दूसरे सबसे बड़े धार्मिक समूह का गठन करते हुए देश के दो मिलियन

masjid2

लोगों का 2.5 प्रतिशत हिस्सा बनाया। ग्रेबस का अनुमान है कि वर्तमान में लगभग 80,000 मु’स्लिम थे 40 के दशक के अंत में एक स्लोवेनियाई मु’स्लिम अज़रा लेकोविक ने मस्जिद को “महत्वपूर्ण” बताया, यह कहते हुए कि उसके बच्चे, 22 और 24, ने वर्षों से खुद को मज़हब से दूर कर लिया था।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें