भक्तों के मुंह पर तमाचा है #ErtugrulGazi और #Tandav जैसी सीरीज

देशविरोधी एजेंडे का हथियार बनाने की शातिर चालबाजी को चुपचाप नजरअंदाज करते रहेंगे?

Share
20 जनवरी 2021 @ 12:38
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Tandav-Erthugul

नई दिल्ली:

भगवान राम और शिव के प्रति अपनी अटूट आस्था से बेशर्म छेड़छाड़ आप आंख बंदकर मंजूर कर लेंगे? उन्हें घटिया मनोरंजन का बिकाऊ माल बनाकर बाजार में बेहिचक बेचने की इजाजत दे देंगे? सनातन की सहिष्णुता और उदारता का मखौल उड़ाने और उसे देशविरोधी एजेंडे का हथियार बनाने की शातिर चालबाजी को चुपचाप नजरअंदाज करते रहेंगे?

ये सवाल आपके सामने इसलिये तनकर खड़े हैं, क्योंकि अभिव्यक्ति की आजादी के नाम पर सनातन विरोधी गैंग 'तांडव' जैसी वेब सीरीज बनाकर आपको ही परोसने में जुटा है.

वो भी इस यकीन के साथ कि आप सबकुछ समझकर भी नासमझ बने रहेंगे. सदियों पुरानी अपनी सनातन संस्कृति में सेंधमारी की साजिश को बर्दाश्त करते रहेंगे.

tandav

जरा सा गौर करते ही आप समझ जाएंगे कि वेब सीरीज 'तांडव' दरअसल टुकड़े-टुकड़े गैंग की देशविरोधी साजिशों का वो एकजुट सिनेमाई वर्जन है, जिसे लोकतंत्र और संविधान का हवाला देकर अराजकता के अलग-अलग आंदोलनों में आजमाया गया.

इसमें शाहीनबाग है, अराजकता की आजादी की मांग वाला होहल्ला भी है. सवर्ण बनाम दलित संघर्ष का खूनी उकसावा है. तो अन्नदाता आंदोलन में राष्ट्रविरोधी साजिश की घुसपैठ का कबूलनामा भी है.

और ये सबकुछ मजहबी मवाद के रिसाव को बुनियाद बना कर बेहद शातिराना अंदाज में रचा गया है, ताकि आस्था का चीरहरण करते हुए सनातन की सहिष्णु सोच पर ठठाकर हंसा जा सके.

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें