अर्नब का ये चैट सेना के साथ खिलवाड़, दर्ज हो देशद्रोह का मुकद्दमा

अर्णब चैटगेट पर केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी हमलावर मुद्रा में है.

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
20 जनवरी 2021 @ 19:38
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Pawan Pal Pal News

अर्णब चैटगेट पर केंद्र सरकार के खिलाफ कांग्रेस पार्टी हमलावर मुद्रा में है. पार्टी ने बुधवार को कहा कि रिपब्लिक टीवी' के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी और टीवी रेटिंग एजेंसी के पूर्व सीईओ पार्थ दासगुप्ता के बीच व्‍हाट्सएप पर हुई कथित बातचीत राष्ट्रीय सुरक्षा पर सवाल खड़े करती है.

पूर्व रक्षा मंत्री एके एंटनी ने एक प्रेस कॉन्‍फ्रेस में कहा कि पुलवामा के 40 शहीदों को लेकर जिस तरह ही भाषा का इस्तेमाल अर्णब और दासगुप्ता ने किया उसे लेकर मुझे गहरी पीड़ा और क्षोभ है. उन्‍होंने कहा कि मिलिट्री ऑपरेशन के बारे में एक पत्रकार को जानकारी होना गहरी चिंता की बात है क्‍योंकि ऐसे ऑपरेशंस अत्यंत गोपनीय होते हैं. यह राजद्रोह है और इसके दोषियों को सज़ा मिलनी चाहिए.

कांग्रेस के एक अन्‍य नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे ने कहा, यह बातचीत ऑफिशियल सीक्रेसी के नियम का उल्लंघन है, ये जर्नलिज़्म के नाम पर धब्बा है. इसकी जांच होनी चाहिए. हम ये संसद में उठाएंगे.

उन्‍होंने कहा कि सरकार को ऑफिशियल सीक्रेसी एक्ट के तरह जो कार्रवाई करनी चाहिए वो शुरू नहीं की है. पूर्व केंद्रीय मंत्री गुलाम नबी आजाद ने कहा कि यह सब TRP के लिए किया गया. TRP से विज्ञापन आता है और विज्ञापन से पैसा. और ये आपराधिक कृत्य के तहत किया गया है. उन्‍होंने कहा कि देश की सुरक्षा की क़ीमत पर TRP के लिए किया गया. ये बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें