यूपी जेल में बंद सोमनाथ भारती को लगा झटका,जानिए किस मामले में हुई 2 साल की सजा

दिल्ली की एक अदालत ने सोमनाथ भारती को मारपीट के मामले में दो साल की सजा सुनाई

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
23 जनवरी 2021 @ 22:10
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Somnath

नई दिल्ली,

दिल्ली की एक अदालत ने आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती को वर्ष 2016 में एम्स के सुरक्षाकर्मी से मारपीट के मामले में दो साल की सजा सुनाई है।

सांसदों और विधायकों के लिए बनाई गई राउज एवेन्यू स्पेशल कोर्ट में अतिरिक्त मुख्य मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट रवींद्र कुमार पांडे ने मामले में आप नेता पर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया।

अदालत ने भारती को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) के तहत विभिन्न अपराधों के लिए दोषी ठहराया, जिनमें धारा 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना), 353 (सरकारी कर्मचारी को उनके कर्तव्य के निर्वहन से रोकने के लिए हमला करना या आपराधिक बल का प्रयोग करना) और 147 (हिंसा/दंगा करना) शामिल हैं।

फैसला सुनाते हुए मजिस्ट्रेट ने कहा कि भारती को दोषी ठहराया जाता है और इसके लिए उन्हें सजा भुगतनी होगी। इन अपराधों में अधिकतम पांच साल जेल की सजा होती है।

बहरहाल, भारती को जमानत दे दी गई, ताकि वह मामले में दोषी ठहराए जाने और जेल की सजा के खिलाफ हाईकोर्ट के समक्ष अपील दायर कर सकें।

मजिस्ट्रेट ने कहा कि मुख्य गवाहों ने विशेष रूप से कहा है कि आरोपी भारती भीड़ का नेतृत्व कर रहे थे, जिसने जेसीबी मशीन के साथ-साथ मैन्युअल तरीके से एम्स की एक चारदीवारी के घेरे को गिरा दिया था।

अभियोजन पक्ष के अनुसार, 9 सितंबर, 2016 को भारती ने लगभग 300 अन्य लोगों के साथ, अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में एक जेसीबी से एक चारदीवारी के घेरे को गिरा दिया था।

अदालत ने सबूतों के अभाव में भारती के सहयोगियों और सह-अभियुक्तों – जगत सैनी, दिलीप झा, संदीप सोनू और राकेश पांडे को बरी कर दिया।

यह मामला एम्स के मुख्य सुरक्षा अधिकारी आर.एस. रावत की शिकायत के आधार पर दर्ज किया गया था।भारती ने अदालत के समक्ष कहा था कि उन्हें पुलिस अधिकारियों और अन्य गवाहों द्वारा झूठे तरीके से फंसाया गया है।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें