जहरीली शराब को लेकर UP में घमासान

यूपी में जहरीली शराब पीने से हो रही लगातार मौतों को लेकर कांग्रेस ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने पिछले चार साल में हुईं 400 मौतों के लिए राज्‍य सरकार को जिम्‍मेदार ठहराया है.

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
5 अप्रैल 2021 @ 13:34
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Sharab

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) की लाख कोशिशों के बावजूद जहरीली शराब से मौतों को सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. राजधानी लखनऊ (Lucknow) समेत प्रतापगढ़, प्रयागराज और चित्रकूट जैसे तमाम जिलों में आये दिन जहरीली शराब से मौतों के मामले लगातार सामने आ रहे हैं. इसको लेकर कांग्रेस (Congress) ने रविवार को योगी सरकार पर निशाना साधा है. इस दौरान कांग्रेस ने न सिर्फ योगी सरकार के बीते 4 वर्षों में करीब 400 लोगो की जहरीली शराब से मौत हो जाने का दावा किया है बल्कि उत्तर प्रदेश के आबकारी और पुलिस विभाग के साथ शराब माफियाओं की मिलीभगत से प्रदेश में करीब 10 हजार करोड़ के अवैध कारोबार का संचालन कर योगी सरकार में जहरीली शराब से मौत बांटे जाने का भी आरोप लगाया है.

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू (Ajay Kumar Lallu) ने प्रदेश में जहरीली शराब से हो रही मौतों और उजड़ते परिवारों के लिये योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि पिछले 4 वर्षों में जहरीली शराब पीने से करीब चार सौ मौतों के बाद जहां एक ओर सरकार ने आबकारी अधिनियम 1910 में संशोधन किया, तो वहीं हाईकोर्ट भी 12 अप्रैल 2017 को ही प्रदेश में जहरीली शराब के कारोबार को रोकने के लिए इसकी बिक्री करने वालों के विरूद्ध आजीवन कारावास, गैंगेस्टर व मृत्यु दण्ड जैसे सख्त दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्चित करने का आदेश दे चुका है, लेकिन फिर भी जहरीली शराब का कारोबार करने वालों के खिलाफ कोई कठोर कार्रवाई न किये जाने के चलते दूरदराज जिलों के ग्रामीण इलाकों को तो छोड़िए सरकार की नाक के नीचे राजधानी व उससे सटे जनपदों में भी योगी सरकार जहरीली शराब के कारोबार से हुई मौतों को रोकने में नाकाम रही है. शराब माफिया, आबकारी और पुलिस विभाग से मिलकर अन्य प्रान्तों से अवैध शराब की तस्करी कर करीब 10 हजार करोड़ के अवैध कारोबार को संचालित करके खुलकर मौत बांटने का काम कर रहे हैं और योगी सरकार इन शराब माफियाओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के बजाय आबकारी विभाग से मिल रहे राजस्व के मुनाफे से फूली नहीं समा रही है.

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें