दिल्ली के अस्पताल ने नर्सों के मलयालम भाषा के इस्तेमाल पर लगायी थी रोक, भड़की कांग्रेस तो वापस लिया फैसला

राहुल गांधी जी ने ट्वीट करते हुए इस निर्णय की आलोचना की थी वहीं अस्पताल प्रशासन ने कहा है कि सर्कुलर बिना उनकी जानकारी के जारी कर दिया गया था.

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
6 जून 2021 @ 17:50
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
Delhi hospital had banned the use of Malayalam language by nurses

दिल्ली के गोविंद बल्लभ पंत इंस्टीट्यूट ऑफ पोस्ट ग्रेजुएट मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च (जीआईपीएमईआर) ने अपने नर्सिंग कर्मियों को काम के दौरान मलयालम भाषा का इस्तेमाल नहीं करने के निर्देश को वापिस ले लिया है. दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने इस बात की जानकारी देते हुए कहा है कि, अस्पताल के सुप्रिटेंडेंट को मामले में मेमो जारी किया गया है. ये फैसला और आदेश कैसे जारी किया गया उन्हें इसका जवाब देने के लिए कहा गया है. हालांकि अस्‍पताल प्रशासन का कहना है कि बिना उनकी जानकारी से यह सर्कुलर जारी कर दिया गया था. 

दरअसल अस्पताल ने शनिवार को एक सर्कुलर जारी करते हुए अपने नर्सिंग स्‍टाफ के मलयालम में बात करने पर रोक लगा दी थी. जिसके बाद अस्पताल प्रशासन को कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा था. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए इस निर्णय की आलोचना की थी. राहुल ने इस मामलें में ट्वीट करते हुए लिखा, "मलयालम भाषा भी उतनी ही भारतीय है, जितनी की देश की अन्य भाषाएं हैं. भाषा के आधार पर इस तरह के भेदभाव को रोका जाना चाहिए." 

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें