बिहार न्यायिक सेवा के लिए में 22 मुस्लिम कामियाब

जज बन्ने वालों में में 7 मुस्लिम लड़कियां भी शामिल

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
2 दिसंबर 2019 @ 00:26

नहीं दिल्ली: बिहार न्यायिक सेवा के परिणाम आ गए हैं जिसके मुताबिक़ 22 मुस्लिम युवाओं ने कामियाबी हासिल की है. मुस्लिम मिरर डाट काम की खबर के अनुसार बिहार न्यायिक सेवा के परिणाम में 22 मुस्लिम चुन लिए गए है,जिन में 7 मुस्लिम लड़कियां भी शामिल हैं. खास बात यह भी है कि पटना की एक हिज़ाब पहनने वाली लड़की सनम हयात भी कामियाब हुई है, एवं सभी मुस्लिम प्रतिभागियों में सबसे ज्यादा रैंक सना ने ही हासिल की है. सनम हयात की दसवीं रैंक है,वही कड़ी मेहनत के बाद जज बनी झारखंड के बोकारो की बेटी शबनम ज़बी के जज बनने पर भी तारीफ़ बटौरी जा रही है.

आपको बता दे कि यूपी में भी न्यायिक सेवा में 38 मुस्लिमों ने योर ऑनरकहलाने का हक़ हासिल किया था. इनमे से 18 लड़कियां है. हाल ही में राजस्थान के  रिज़ल्ट में 6 मुस्लिम चुने गए जिनमे से पांच लड़कियां थी. बिहार में कुल 22 मुस्लिम जज बने है. इनमें से 7 लड़कियां है.

देखा जाये तो लड़कों के मुक़ाबले बिहार की लड़कियां पिछड़ गई है मगर बिहार में महिलाओं की स्थिति को देखते हुए यह क़ाबिल ए तारीफ है. यूपी, राजस्थान के बाद अब बिहार के 6 मुस्लिम ने भी अपने राज्य का नाम ऊंचा किया है. उन्हें बेटियों पर गर्व है, अधिवक्ता इक़बाल की बेटी शबनम ज़बी भी इसी परिणाम में जज बनी है.

शुकवार को आने वाले परिणाम के मुताबिक 30 वी बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में कुल 1080 उम्मीदवारों को साक्षात्कार के लिए बुलाया गया था. जिनमे से 687 लोगों को चुना गया.

कमियाबी हासिल करने वालों के नाम एवं नंबर इस प्रकार हैं.सनम हयात( 10 ),महविश फातिमा(29), मोहम्मद अफजल खान (109), मोहम्मद अकबर अंसारी(134), ग़ज़ाला साहिबा(177), शारिक हैदर( 117), आसिफ नवाज़(121),नाजिया खान( 131),उज़मा कमर( 133), नाजिम अहमद(289), शबनम ज़बी(294), मोहम्मद शुएब(398), मासूम खानम(440), सफदर सालन(445), मोहम्मद फहद हुसैन(447), सबा शकील(486), शाद रज्ज़ाक(506), महजबी नाज(541), मसरूर आलम(559), ग़ुलाम रसूल(464), सरवर अंसारी(524), और इज़्म्मुल हक़(471)

Click on the ad to support Pal Pal News