फुलवारीशरीफ में भी जारी है एनआरसी के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना

इमारत-ए-शरिया के कार्यवाहक नाजिम मौलाना शिबली कासमी भी धरना में शामिल हुए और लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हर स्तर पर इमारत-ए-शरिया नागरिकता संशोधन, एनपीआर व एनआरसी का विरोध करने वालों का साथ देगी

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
14 जनवरी 2020 @ 16:27
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन कानून, एनपीआर व एनआरसी के खिलाफ पटना के फुलवारीशरीफ स्थित हारूण कॉलोनी सेक्टर-1 में भी अनिश्चितकालीन धरना जारी रहा. सैकड़ों महिला-पुरूष व बच्चे इस कंपकपाती ठंड में कानून वापसी की मांग को लेकर धरना पर डटे रहे.

इमारत-ए-शरिया के कार्यवाहक नाजिम मौलाना शिबली कासमी भी धरना में शामिल हुए और लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हर स्तर पर इमारत-ए-शरिया नागरिकता संशोधन, एनपीआर व एनआरसी का विरोध करने वालों का साथ देगी. जबतक कानून वापस नहीं लिया जाएगा तबतक इमारत-ए-शरिया शांतिपूर्ण तौर से आंदोलन को जारी रखेगा. कार्यवाहक नाजिम ने कहा कि आज जहां पूरे देश में अमन-पसंद लोग शांतिपूर्ण ढंग से धरना पर बैठे हैं वहीं फुलवारीशरीफ प्रशासन धरना पर बैठने की इजाजत तक नहीं दे रहा है.

आप को बता दें कि पहले हारूण कॉलोनी सेक्टर-1 से धरनार्थियों को जबरन हटाया गया वहीं रविवार को चुनौती कुआं स्थित हाजी हरमैन कब्रिस्तान के नजदीक बैठने की योजना से पहले ही फुलवारीशरीफ प्रशासन ने दबाव बनाकर हटा दिया. जिससे मजबूर होकर आंदोलनकारी दोबारा हारूण कॉलोनी सेक्टर-1 में अनिश्चितकालीन धरना पर बैठ गए. इस मौके पर माले के प्रखंड सचिव गुरूदेव दास, देवी लाल पासवान, सीपीआई के कामरेड महेश रजक, राजकुमार, कामरेड सरीफ मांझी, साधु शरण, मौलाना गौहर इमाम, मौलाना इमामुद्दीन कासमी, मौलाना अरसद रब्बानी, असरफ रब्बानी, शमीम इकबाल, रईस मलिक समेत कई गणमान्य लोग भी धरना में शामिल हुए.

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें