दिल्ली की अनाधिकृत कालोनियों के नियमन में बदलाव हेतु कांग्रेस ने निर्माण भवन का घेराव किया

प्रदर्शनकारियों में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री जय प्रकाश अग्रवाल, श्री अरविन्दर सिंह लवली, परवेज हाश्मी, कीर्ति आजाद व श्री मुकेश शर्मा शमिल थे

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
4 दिसंबर 2019 @ 00:23

नई दिल्ली: दिल्ली की अनाधिकृत कालोनियों के मुद्दे पर आक्रामक कांग्रेस पार्टी ने आज धारा 7ए को निरस्त करने की मांग को लेकर प्रदेश अध्यक्ष श्री सुभाष चोपड़ा के नेतृत्व में केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री श्री हरदीप पुरी के निर्माण भवन स्थित कार्यालय का घेराव किया. प्रदर्शन में शामिल गुस्साऐं हजारों लोगों की भीड़ के कारण लगभग 2 घंटे तक जनपद और उसके क्षेत्र के आसपास जाम लगा रहा . गुस्साऐं लोग बार-बार जेल जाने की मांग कर रहे थे. बेकाबू लोगों से पुलिस की कई बार झड़पे हुई.

लम्बे समय तक ट्रेफिक जाम होने और पुलिस की बार बार चेतावनी के बाद जब प्रदर्शनकारी वहां से नही हटे तो पुलिस के आला अधिकारियों ने श्री सुभाष चोपड़ा, पूर्व मंत्री श्री अरविन्दर सिंह लवली, परवेज हाश्मी व मुख्य प्रवक्ता व वरिष्ठ नेता श्री मुकेश शर्मा सहित हजारों कार्यकर्ताओं को गिरफतार कर लिया. जिन्हें मंदिर मार्ग थाने के अलावा दिल्ली के अलग-अलग थानों में रखा गया.

प्रदर्शनकारियों में पूर्व प्रदेश अध्यक्ष श्री जय प्रकाश अग्रवाल, श्री अरविन्दर सिंह लवली, परवेज हाश्मी, कीर्ति आजाद व श्री मुकेश शर्मा शमिल थे जो नारे लगाते हुए निर्माण भवन की ओर बढ़े है. प्रदर्शनकारियें को सम्बोधित करते हुए श्री सुभाष चोपड़ा ने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार व केजरीवाल की मिलीभगत से दिल्ली की अनाधिकृत कालोनियों को उजाड़ने की नाकाम साजिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय मंत्री श्री हरदीप पुरी ने स्वयं यह माना है कि धारा 7ए के कारण 9 प्रतिशत कालोनियां नियमन से बाहर रह गई है. उन्होंने कहा कि श्री पुरी को जमीनी हकीकत की जानकारी ही नही है, सच यह है कि 40 प्रतिशत से अधिक कालोनियां 7ए की अंतर्गत आती है और लोगों में इसको लेकर भारी गुस्सा है. उन्होंने कहा कि धारा 7ए का निरस्त नही किया जाना जनहित में नही है. उन्होंने इस बात पर भी आश्चर्य व्यक्त किया कि मालिकाना हक देने के नाम पर कालोनियों के लोगों को ठगा जा रहा है.

Click on the ad to support Pal Pal News