स्वामी एवं सैनी समेत दर्जन भर नेता समाजवादी पार्टी में शामिल 

हाल में भाजपा से किनारा करने वालों ने एसपी का दमन थाम कर राज्य में मुख्य विपक्षी दल को पहुंचाई मजबूती एवं दिया भाजपा के सफाये का संदेश

Share
Written by
14 जनवरी 2022 @ 18:57
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
sp.jpg

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी सरकार से इस्तीफा देने वाले श्रम मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्या ने शुक्रवार को मंत्री धर्म सिंह सैनी समेत कई साथियों के साथ समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया। इस दौरान स्वामी प्रसाद मौर्या ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा और कहा कि उत्तर प्रदेश को भाजपा के शोषण से मुक्त कराना है। नवजीवन इंडिया डाट काम के अनुसार स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ शुक्रवार को पूर्व मंत्री डा.धर्म सिंह सैनी, विधायक भगवती प्रसाद सागर, विनय शाक्य, रोशनलाल वर्मा, डा. मुकेश वर्मा, ब्रजेश प्रजापति और चौधरी अमर सिंह, पूर्व मंत्री अयोध्या प्रसाद पाल, पूर्व मंत्री रामहेत भारती, पूर्व विधायक नीरज मौर्य, बलराम सैनी, राजेंद्र प्रसाद पटेल, विद्रोही धनपत राम मौर्य, बंशी पहाडिया, अमर नाथ सिंह मौर्य, रामावतार सैनी, अली यूसुफ अली, आरके मौर्य, दामोदर मौर्य तथा बसपा प्रमुख मायावती के मुख्य सुरक्षा अधिकारी रहे पदम सिंह समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। भाजपा की सहयोगी अपना दल-एस के सिद्धार्थनगर के शोहरतगढ़ के विधायक चौधरी अमर सिंह भी सपा में शामिल हो गये। स्वामी प्रसाद मौर्य ने इस अवसर पर कहा, "आज भाजपा के खात्मे का शंखनाद बज गया है। भाजपा ने देश और प्रदेश की जनता को गुमराह कर उनकी आंखों में धूल झोंकी है और जनता का शोषण किया है। अब भाजपा का खात्मा करके उत्तर प्रदेश को भाजपा के शोषण से मुक्त कराना है।"
स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ जनेश्वर मिश्र ट्रस्ट कार्यालय में सैकड़ों समर्थक ढोल नगाड़ों के साथ मौजूद थे। यह सभी लोग जश्न मना रहे थे। स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, "भाजपा के बड़े- बड़े नेता जो कुंभकरण नींद सो रहे थे, आज हमलोग के इस्तीफा देने के बाद उनकी नींद हराम हो गई है। उन्हें नींद ही नहीं आ रही है। अखिलेशजी पढ़े लिखे हैं नौजवान हैं और प्रदेश के लाखों लोगों का साथ उनके साथ मिलकर बीजेपी को निस्तनाबूत कर देंगे।"
उन्होंने आगे कहा, " जिसका मैं साथ छोड़ता हूं उसका कोई वजूद नहीं रहता। हमारी बहनजी इसका जीता जागता सबूत है, बहन जी ने कांशीराम जी का नारा बदल दिया मैंने उसकी विरोध किया लेकिन नहीं मानी, और आज उनका कोई वजूद नहीं रहा।"
भाजपा के कुछ लोग कहते हैं कि 5 साल तक इस्तीफा क्यों नहीं दिया? और कुछ लोग कहते हैं की बेटे की वजह से इस्तीफा दिया। इस सवाल के जवाब पर स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा, "भाजपा ने पिछड़ों की, दलितों और अल्पसंख्यक की आंख में धूल झोंक कर सरकार बनाई थी। उन्होंने कहा था कि मुख्यमंत्री होंगे यादव, मौर्य या कोई भी पिछड़े वर्ग का, लेकिन लोगों की आंखों में धूल झोंक कर गोरखपुर से ले आएं। 80 और 20 का नारा दे रहे हैं, तो मैं तो कहता हूं की 85 और 15 का है जिसमें 85 हमारा और 15 में भी बंटवारा है।"
उन्होंने कहा कि मैने सोचा था की इतने समय तक वनवास झेलने के बाद भाजपा अच्छा काम करेगी लेकिन भाजपा ने ऐसा नहीं किया। आज मैं भाजपा से कहना चाहता हूं की आज जो ये कार्यक्रम हो रहा है, इससे एक ऐसा तूफान चलेगा जिससे भाजपा के परखच्चे उड़ जाएंगे।


 

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें