जोधपुर के हिंसा मामले में अब तक 97 लोग गिरफ़्तार

ईद के दिन हुई थी दो समुदाय के बीच झड़प 10 पुलिस थानों के अंतर्गत आने वाले इलाक़ों में अब भी कर्फ़्यू लगा

Share
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
jodhpur hinsa.jpg

जोधपुर: राजस्थान के शहर जोधपुर में दो समुदायों के बीच हुई हिंसक झड़प के मामले में 97 लोगों को गिरफ़्तार कर लिया गया है। यहाँ 10 पुलिस थानों के अंतर्गत आने वाले इलाक़ों में अब भी कर्फ़्यू लगा हुआ है। पुलिस के मुताबिक़ फ़िलहाल स्थिति नियंत्रण में है और हिंसा की कोई नई घटना नहीं हुई है। क़ानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए क़रीब एक हज़ार पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। जोधपुर के जालोरी गेट इलाक़े में हिंसक झड़प होने के बाद से ही प्रशासन ने इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी हैं। बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार ये विवाद सोमवार रात से शुरू हुआ जब परशुराम जयंती को लेकर एक समुदाय ने झंडा लगा कर सजावट की थी और आरोप है कि दूसरे समुदाय ने झंडा हटा कर अपना झंडा और लाउडस्पीकर लगाए। इसके बाद मंगलवार को ईद की नमाज़ के बाद एक बार फिर झंडे को लेकर विवाद शुरू हुआ, जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया। जोधपुर के पुलिस उपायुक्त ने बताया कि कर्फ़्यू लगाने के साथ-साथ मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए थे। 
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को लोगों से शांति और सौहार्द बनाए रखने की अपील की थी। साथ ही दो मंत्रियों और अधिकारियों को भी भेजा गया था। 
इधर खास बात यह भी है कि राजस्थान के जोधपुर में हुई हिंसा की चर्चा संयुक्त राष्ट्र में भी हो रही है। यूएन के प्रवक्ता ने बुधवार को भारत सरकार और एजेंसियों को शहर में शांति और सद्भावना सुनिश्चित करने का आह्वान किया है। इसके अलावा यूएन प्रमुख एंटोनियो गुटेरेस के कार्यालय ने शहर के सभी समुदायों के साथ मिलकर काम करने की अपील की है। दैनिक हिंदुस्तान की खबर के अनुसार ईद से पहले हुई हिंसा को लेकर सवाल पूछे जाने पर महासचिव के उप प्रवक्ता ने कहा, 'मुझे लगता है कि मूल बात हमारी आशा है कि अलग-अलग समुदाय मिलकर काम करेंगे और यह कि सरकार और सुरक्षा बल यह सुनिश्चित करेंगे कि सभी लोग शांति से उत्सव समेत अपनी गतिविधियां कर सकें।' हिंसा के दौरान पांच पुलिसकर्मी भी घायल हो गए थे।

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें