चिंतन शिविर मे कपिल सिब्बल के शामिल होने की संभावना नहीं 

कांग्रेस की 400 चुनिंदा आमंत्रितों की सूची में इनका भी नाम शामिल है लेकिन अभी तक वरिष्ठ नेता और मशहूर वकील ने कार्यक्रम में अपनी भागीदारी को लेकर पुष्टि नहीं की है

Share
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
kapil sibbal

उदयपुर: राजस्थान के उदयपुर में कांग्रेस पार्टी का तीन दिवसीय चिंतन शिविर आयोजित होने जा रहा है, जिसमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मशहूर वकील कपिल सिब्बल ने लगभग नहीं शामिल होंगे। एबीपी लाइव की खबर के अनुसार सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में देशद्रोह कानून के खिलाफ कानूनी लड़ाई का नेतृत्व कर रहे हैं।  कांग्रेस में परिवर्तन चाहने वाले नेताओं में से एक प्रमुख आवाज सिब्बल, राज्यसभा सांसद और एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के रूप में कांग्रेस की 400 चुनिंदा आमंत्रितों की सूची में शामिल हैं। हालांकि उन्होंने अभी तक कार्यक्रम में अपनी भागीदारी को लेकर पुष्टि नहीं की है। 
जानकारी के मुताबकि कांग्रेस पार्टी के एक पदाधिकारी ने स्वीकार किया कि सिब्बल ने अभी बैठक में अपनी उपस्थिति की पुष्टि नहीं की है।  हालांकि, यह सभी जानते हैं कि सिब्बल हमेशा खुद को "एक प्रतिबद्ध कांग्रेसी" के रूप में आगे रखते हुए इस बात को आगे बढ़ाते रहे हैं कि कांग्रेस के पुनरुद्धार के लिए नेतृत्व में बदलाव और कार्यात्मक सुधारों से कम कुछ भी नहीं होना चाहिए।  जबकि राहुल गांधी और प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला सहित कांग्रेस नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले की सराहना की, वे कानूनी लड़ाई का नेतृत्व करने में सिब्बल की भूमिका पर आधिकारिक तौर पर चुप रहे। एक समय था जब एआईसीसी सिब्बल को अपनी आधिकारिक ब्रीफिंग में प्रदर्शित करता था, जब उन्होंने तत्कालीन सीजेआई पर महाभियोग सहित कई हाई-प्रोफाइल कानूनी लड़ाइयों का नेतृत्व किया था। 
बीते कुछ समय में कपिल सिब्बल ने सीएए विरोधी, निजता का अधिकार, मराठा कोटा और जहांगीरपुरी अतिक्रमण के विरुद्ध कार्रवाई के खिलाफ कई मामले उठाए, जिसने भाजपा सरकार की नीतियों और राजनीति को चुनौती दी। उनकी हालिया कानूनी लड़ाई में से एक झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन को खनन मामले में चुनाव आयोग और भाजपा से बचाने की कोशिश करना है। 

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें