मोस्ट वांटेड नक्सली की संदिग्ध परिस्थिति में मौत

बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमिटी एवं मध्य जोन के प्रभारी शीर्ष नक्सली नेता संदीप यादव उर्फ विजय यादव का शव बुधवार की रात उसके पैतृक गांव बांकेबाजार थाना क्षेत्र के बाबूरामडीह के समीप जंगल से बरामद किया गया

Share
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
naxali.jpg

पटना: बिहार, झारखंड का भारतीय कम्यूनिस्ट पार्टी (माओवादी) के मोस्ट वांटेड नक्सली संदीप यादव की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गई। बिहार-झारखंड स्पेशल एरिया कमिटी एवं मध्य जोन के प्रभारी शीर्ष नक्सली नेता संदीप यादव उर्फ विजय यादव का शव बुधवार की रात उसके पैतृक गांव बांकेबाजार थाना क्षेत्र के बाबूरामडीह के समीप जंगल से बरामद किया गया है। बताया जाता है कि उसके दोनों पैर बंधे थे तथा चेहरे पर कई निशान थे।
पुलिस के एक अधिकारी ने गुरुवार को बताया कि संदीप उर्फ विजय यादव की मौत के कारण फिलहाल स्पष्ट नहीं हैं, लेकिन उसके परिजनों ने दवा के रिएक्शन के कारण मौत बता रहे हैं। कुछ लोग हत्या की भी बात कह रहे हैं। मृतक के पुत्र सोनू कुमार ने शव की पहचान की है।
शव की सूचना मिलने के बाद पहुंची पुलिस ने शव को अपने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया है। भाकपा माओवादी नक्सली संगठन के शीर्ष नेता संदीप यादव उर्फ विजय यादव की तलाश पुलिस को पिछले 25 सालों से अधिक समय से थी। 
संदीप यादव पर बिहार-झारखंड समेत कई राज्यों में 50 लाख से अधिक का इनाम था। संदीप यादव को पकड़ने के लिए कई राज्यों की पुलिस परेशान थी। बांके बाजार पुलिस अधिकारी अमरजीत चौधरी ने बताया कि मौत के कारणों का फिलहाल पता नहीं चल पाया है, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों का सही पता चल सकेगा। इस बीच दैनिक जागरण की खबर में बताया गया है कि संदीप यादव औरंगाबाद एवं गया जिले के दो दर्जन से अधिक नक्सल कांडों में आरोपित था। सभी कांडों में फरार चल रहा था। वर्ष 2018 में ईडी ने नक्सली के स्वजनों की संपत्ति को अटैच किया था। इसकी गिरफ्तारी को लेकर केंद्रीय मंत्रालय की एजेंसियां के अलावा बिहार एवं झारखंड सरकार कई वर्षों से लगी थी। सरकार ने छकरबंदा के जंगल में एवं आसपास करीब 12 सीआरपीफ, कोबरा एवं एसएसबी एवं एसटीफ की कैंप लगा रखी थी। 
बताया जाता है कि पूछताछ के क्रम में मृतक माओवादी नेता के पुत्र का पुलिस ने मोबाइल भी जप्त किया है। यह भी पता चला है चार अज्ञात आदमी द्वारा शव को गांव में लाया गया और गांव में बने चबूतरा पर रख कर चले गए थे। उसके बाद हल्ला होने पर परिजन शव को चबूतरा पर से उठा कर घर ले गए थे।

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें