स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले आईएएस  दंपति का तबादला

पति को लद्दाख भेज गया जबकि पत्नी का अरुणाचल हुआ ट्रांसफर

Share
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
ias

नई दिल्ली: दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में एथलीट को निकालकर कुत्ता घुमाने आने वाले आईएएस दंपति का पनिशमेंट ट्रांसफर हुआ है। आईएएस संजीव खिरवार का तबादला लद्दाख किया गया है तो उनकी आईएएस पत्नी रिंकू धुग्गा को अरुणाचल प्रदेश भेजा गया है।संजीव 1994 बैच के अधिकारी हैं, जो फिलहाल दिल्ली में रेवेन्यू कमिश्नर के पद पर तैनात थे। दिल्ली के सारे डीएम उनके अंडर में काम करते थे। मामला दक्षिण दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम है। आरोप था कि स्टेडियम से रोज शाम 7 बजे खिलाड़ियों और कोच को बाहर निकाल दिया जाता था। क्योंकि 7 बजे आईएएस संजीव अपनी पत्नी समेत स्टेडियम में कुत्ते के वॉक पर लेकर आता था। इस मामले की तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुईं।
गृह मंत्रालय ने मामले का संज्ञान लेते हुए दिल्ली के मुख्य सचिव से मामले की रिपोर्ट मांगी थी। मुख्य सचिव ने अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को सौप दी, इसके बाद सरकार ने आईएएस दंपती के खिलाफ एक्शन लिया है। भारत सरकार के अंडर सेक्रेटरी राकेश कुमार सिंह ने आईएएस दंपती को तत्काल प्रभाव से स्थानांतरित प्रदेशों में ज्वाइन करने का आदेश दिया है।
इधर दूसरी ओर दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने घोषणा की है कि दिल्ली सरकार के नियंत्रण वाले सभी खेल स्टेडियम रात के 10 बजे तक खुले रहेंगे। 
इसकी घोषणा दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने की है।  गुरुवार को अंग्रेज़ी अख़बार इंडियन एक्सप्रेस में एक रिपोर्ट छपी थी कि दिल्ली सरकार के नियंत्रण वाले त्यागराज स्टेडियम में एथलिट और उनके कोच को सात बजे तक ही ट्रेनिंग ख़त्म करने पर मजबूर किया जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि दिल्ली के प्रधान सचिव (राजस्व) संजीव खिरवार अपने कुत्ते के साथ टहलने आते हैं।  मनीष सिसोदिया ने इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट को ट्वीट करते हुए लिखा है, ''न्यूज़ रिपोर्ट देखने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 10 बजे रात तक सभी स्टेडियम को खुला रखने का निर्देश दिया है। ''
 आपको बाता दें कि इंडियन एक्सप्रेस से एक कोच ने कहा था, ''हम पहले रात में 8-8। 30 बजे तक ट्रेनिंग करवाते थे।  लेकिन अब हमें सात बजे तक ग्राउंड से जाने के लिए कहा गया है।  ऐसा एक अधिकारी को कुत्ते के साथ टहलना होता है, इसलिए कहा गया है।  हमारी ट्रेनिंग और रोज़ के अभ्यास पर असर पड़ा है। ''
हालांकि खिरवार ने अख़बार से कहा कि यह आरोप बिल्कुल ग़लत है।  लेकिन खिरवार ने इसे स्वीकार किया कि कभी-कभार वे अपने कुत्ते को साथ में लाते हैं लेकिन इससे ट्रेनिंग बाधित होने की बात को उन्होंने नकार दिया है।  खिरवार ने कहा कि उन्होंने कभी एथलीट को मैदान से जाने के लिए नहीं कहा था। 

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें