कन्हैया का हत्यारा रियाज था बीजेपी मेंबर

दैनिक भास्कर की इन्वेस्टिगेशन टीम ने चार सुबूतों के आधार पर यह फैक्ट सामने लाया

Share
Written by
3 जुलाई 2022 @ 23:53
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
riyaz.jpg

नई दिल्ली: उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या करने वाले रियाज जब्बार ने भारतीय जनता पार्टी की सदस्यता ली थी और खुद उदयपुर के जिला मंत्री करण सिंह शक्तावत ने दुपट्‌टा पहनाकर भाजपा में उसका स्वागत किया था। दैनिक भास्कर के इन्वेस्टिगेशन में यह फैक्ट सामने आया है।
दैनिक भास्कर ने रियाज जब्बार के BJP कनेक्शन को लेकर पड़ताल की तो ऐसे कई फैक्ट हाथ लगे, जो यह बताते हैं कि रियाज का कहीं न कहीं भाजपा से लिंक जरूर था, इसे भास्कर से बातचीत में भाजपा नेताओं ने स्वीकार भी किया है। कुछ नेताओं से पुलिस पूछताछ भी कर रही है और भाजपा ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है।
दैनिक भास्कर की इन्वेस्टिगेशन में रियाज के बीजेपी से जुड़े होने के 4 सबूत हाथ लगे...पढ़िए आखिर बीजेपी में संगठन तक कैसे पहुंचा रियाज और नेताओं से उसका कनेक्शन
पहला सबूत: यह फोटो 2019 का है। बताया जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले यह कैंपेन शुरू किया गया था। बीजेपी के जिलामंत्री करण सिंह शक्तावत को सदस्यता अभियान का जिला संयोजक बनाया गया था। इस फोटो में वे खुद रियाज को दुपट्‌टा पहनाते हुए नजर आ रहे हैं।
इस फोटो में पीछे सदस्यता अभियान का बैनर लगा है, जिसमें सदस्यता लेने के लिए जारी किया गया मिस कॉल वाला नंबर 8980808080 भी दिखाई दे रहा है। इसी तस्वीर में जिला अध्यक्ष रवींद्र श्रीमाली भी दिखाई दे रहे हैं। बीजेपी से जुड़े होने का यह सबसे बड़ा सबूत है।
सदस्यता देते वक्त पहनाया जाता है दुपट्‌टा
भाजपा नेताओं के मुताबिक लोकल स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक भाजपा में यही परंपरा है कि दुपट्‌टा पहनाकर भाजपा में आने वाले लोगों का स्वागत किया जाता है। भाजपा जिलाध्यक्ष रवींद्र श्रीमाली और सदस्यता अभियान के संयोजक करण सिंह शक्तावत रियाज का कुछ इसी तरह का स्वागत करते हुए दिख रहे हैं।
दूसरा सबूत: सदस्य बनने के बाद ही बीजेपी के अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व मंडल अध्यक्ष मोहम्मद ताहिर ने नवम्बर 2019 में एक फेसबुक पोस्ट शेयर की थी। इसमें ताहिर रियाज को बीजेपी कार्यकर्ता बता रहे हैं। यह पोस्ट बीजेपी सदस्यता अभियान के कुछ महीनों बाद की ही है।
इसके अलावा पूर्व मेयर चंद्रसिंह कोठारी का रियाज को सम्मानित करते हुए फोटो भी सामने आया है। इसमें अल्पसंख्यक मोर्चा जिलाध्यक्ष अख्तर अली सिद्दीकी भी नजर आ रहे हैं।
तीसरा सबूत: नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया और जिला अध्यक्ष रवींद्र श्रीमाली समेत बीजेपी के कई नेताओं के साथ उसके फोटो। कटारिया के साथ उसका नवंबर 2018 का एक फोटो वायरल हुआ है।
अन्य फोटो में वह इन दो बड़े नेताओं के अलावा बीजेपी नेता चंद्रसिंह कोठारी, बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के उदयपुर जिलाध्यक्ष अख्तर अली सिद्दीकी, मोर्चा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य इरशाद चैनवाला, बीजेपी अल्पसंख्यक मोर्चा के राणाप्रताप मंडल के पूर्व अध्यक्ष मोहम्मद ताहिर के रियाज साथ में हैं।
चौथा सबूत: रियाज नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया के दामाद और पूर्व पार्षद, मंडल अध्यक्ष अतुल चंडालिया की फैक्ट्री में भी काम कर चुका है।
चंडालिया ने भास्कर को बताया कि 2015-2016 में रियाज ने उनकी मैटल कटिंग फैक्ट्री में करीब 4 महीने काम किया था। उन्होंने बताया कि रियाज वेल्डिंग, लैथ मशीन, कटिंग से जुड़े कारीगर के ही काम करता था। ऐसे में कौन कैसा है या उसके दिमाग में क्या है ये किसे मालूम।
इस पूरे मामले की भास्कर ने पड़ताल की तो इसमें एक फोटो अल्पसंख्यक मोर्चा के जिला अध्यक्ष अख्तर अली सिद्दीकी का भी था, लेकिन यह मामला सामने आने के बाद उन्होंने अपनी सभी फेसबुक पोस्ट डिलीट कर दी है।
पार्टी ने अपने स्तर पर जांच भी शुरू कर दी है। इसी में सामने आया कि बड़ी मात्रा में सिद्दीकी ने पोस्ट हटा दिए हैं। वहीं बीजेपी के कुछ नेताओं का यह भी कहना है कि किसी सोची-समझी साजिश और पार्टी की रेकी के लिए रियाज शामिल हुआ हो।

दूसरी खबरों एवं जानकारियों से अवगत होने के लिए इस वीडियो लिंक को क्लिक करना ना भूलें

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें