100 करोड़ हिंदू कानून को हाथ में लेंगे: महंत

तपस्वी छावनी पीठाधिश्वर ने धमकी देते हुए कहा कि सारे मुसलमान उन्हें पाकिस्तान-बांग्लादेश मिल गया है, वे सब वहाँ चले जाएँ। नहीं तो इन्हें वही सजा देंगे जिस भाषा को ये लोग समझते हैं

Share
Written by
4 जुलाई 2022 @ 10:42
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
peethadeshwar.jpg

नई दिल्ली: उदयपुर में हुई कन्हैया लाल की हत्या के बाद अयोध्या के बाद भड़काऊ बयान आने का सिसलसला जारी है। इस बीच सोशल मीडिया पर खुद को तपस्वी छावनी का महंत बताने वाले जगत गुरु श्री परमहंस आचार्य का एक भड़काऊ वीडियो संदेश ट्वीटर पर शेयर हो रहा है जिसमें उन्होंने मीडिया के माध्यम से अपना गुस्सा व्यक्त किया है और देश के मुसलमानों के विरुद्ध ऐसीए बयान भी दिए हैं जिन्हें कानून संगत नहीं कहा जा सकता। उन्होंने प्रशासन से कहा है कि आरोपितों के विरुद्ध त्वरित कार्रवाई करके उन्हें फाँसी दी जाए वरना वह खुद कानून को हाथ में ले लेंगे। उन्होंने बाराबंकी के सिरौली में ओवैसी का पोस्टर भी जलाया और ये भी कहा कि अगली बार अगर देश के खिलाफ भड़काऊ बयानबाजी की तो उनको भी जला देंगे।
वीडियो में महंत ने कहा, “राजस्थान के उदरपुर में एक हिंदू दर्जी की जिस तरह से दो मुसलमानों ने निर्मम और नृशंस हत्या की है। अब समय आ गया है कि हिंदू ने बहुत दिन तक हनुमान चालीसा पढ़ी और हनुमान जी की आराधना की, मगर अब हनुमान बनने का समय आ गया है।”

कन्हैयालाल की निर्मम हत्या पर अपनी राय रखते हुए उन्होंने कहा, “जिस तरह से लगातार हिंदुओं की हत्या हो रही है, फिर भी इन लोगों का कुछ नहीं रहा। इन्हें लगता है कि जेल जाएँगे और फिर छूट जाएँगे। इनके पीछे हजारों मुल्ला लगे रहते हैं। इन्हें फंडिंग होती है। इन्हें कानूनी सहायता दी जाती है। डिबेट में बैठकर इनका बचाव होता है। इसलिए अयोध्या से मैं तपस्वी छावनी पीठाधिश्वर परमहंस आचार्य आज घोषणा करता हूँ कि अगर फास्ट ट्रैक में सुनवाई करके इन दोनों दरिंदों को फाँसी नहीं हुई तो मैं कानून को हाथ में लूँगा और मेरे साथ 100 करोड़ हिंदू कानून को हाथ में लेंगे। देश को जिहाद मुक्त करेंगे।”
नुपूर शर्मा की टिप्पणी पर महंत ने कहा, “नुपूर शर्मा ने आखिर क्या कह दिया। उन्होंने वही कहा जो ग्रंथ में लिखा है। हदीस में लिखा है। जब इस तरह की घटना होती है तो कोई मुल्ला इसका विरोध नहीं करता। इसलिए सारे मुसलमान उन्हें पाकिस्तान-बांग्लादेश मिल गया है, वे सब वहाँ चले जाएँ। नहीं तो इन्हें वही सजा देंगे जिस भाषा को ये लोग समझते हैं। इन्होंने जिस तरह से हमारे हिंदुओं की हत्या की है। मैं स्वयं इसका बदला लूँगा। चौगुनी ताकत से इन जिहादियों को तड़पा कर मारूँगा। 100 करोड़ हिंदू कानून को हाथ में लेंगे। जय श्रीराम।”
लगभग 53 सेकंड के इस वीडियो संदेश में जो भाषा शैली इस्तेमाल की गई है, वह उनकी उत्तेजना को ही नहीं दर्शाती है, बल्कि भारत की अल्पसंख्यक आबादी को दहशत भी दिलाती है, लेकिन यह कानून का राज स्थापित करने का दावा वालों के लिए कोइ मयने नहीं रखता। ना ही पुलिस प्रशासन ने इस का संज्ञान लिया है ना ही किसी सत्ताधारी नेता की प्रतिक्रिया सामने आई है। यह अलग बात है कि ट्वीटर पर लोगों की प्रतिक्रिया जरूर सामने आ रही है। ऐसी ही एक राय @Ram_Mohd_Singh_Azad नमी यूजर की ओर से सामने आया है, जिसमें उन्होंने अंग्रेजी भाषा में लिखा है कि “ First @naqvimukhtar ji has to leave India to set an example for others to follow?
  इसी प्रकार @BrajbhushanPra3 ने लिखा है“ ये स्वम्भू साधु सौ करोड़ हिन्दुओं के ठेकेदार हैं क्या? ये बताएं कि इन लोगों ने हिन्दू समाज के लिए क्या किया है और करते हैं। सिर्फ साम्प्रदायिक सद्भावना को बिगाङना, लड़वाना।शिक्षा, स्वास्थ्य, संस्कृति, नैतिकता का कोई काम नहीं करते। ये समाज पर पल रहे हैं और बोझ बनते जा रहे हैं।“
दूसरी ओर @gurdipsahota ने भी अपनी राय अंग्रेजी में दी है और लिखा है “ How many Hindus live outside of India? Now that would be quite the 'ghar wapsi' 'eh. This would be the ultimate @akshaykumar 'Airlift' sequal !!!”

दूसरी खबरों एवं जानकारियों से अवगत होने के लिए इस वीडियो लिंक को क्लिक करना ना भूलें

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें