देश में लॉकडाउन होते हुए भी अयोध्या के मंदिर पहुंचे योगी आदित्यनाथ, हुई आलोचना

कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 21 दिनों के देशव्यापी बंद शुरू होने के चंद घंटों बाद ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दर्जनों अधिकारियों के साथ अयोध्या पहुंचे।

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
26 मार्च 2020 @ 14:51
Yogi Adityanath arrives in Ayodhya temple despite lockdown in country, criticized

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में बुधवार सुबह रामलला की मूर्ति एक अस्थायी स्थान पर स्थानांतरित कर दी गयी.

मुख्यमंत्री के यहां पहुंचने पर विपक्ष ने कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लागू नियमों के उल्लंघन पर उनकी आलोचना की है.

मूर्ति को स्थानांतरित करने के लिए धार्मिक अनुष्ठान सोमवार को ही शुरू हो गया था. बुधवार तड़के तक यह अनुष्ठान चला. इस दौरान आदित्यनाथ और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और विश्व हिंदू परिषद के कुछ नेता भी मौजूद थे.विपक्षी दलों ने मुख्यमंत्री की आलोचना करते हुए कहा कि आयोजन में हिस्सा लेकर उन्होंने अच्छा उदाहरण पेश नहीं किया.

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम ने कहा, ‘योगी लोगों को मंदिर और मस्जिद नहीं जाने के लिए कह रहे हैं और कोरोना वायरस के मद्देनजर यह बिल्कुल सही भी है. लेकिन मुख्यमंत्री खुद अपने बयान के उलट काम कर रहे हैं.’

कोरोना वायरस के बढ़ते संकट के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते 24 मार्च की आधी रात से देशभर में 21 दिनों के लॉकडॉउन की घोषणा की थी. इस दौरान किसी को भी बाहर नहीं निकलने और घरों में ही रहने की हिदायत दी गई है.

इस अवधि के लिए जारी निर्देशों में यह भी कहा गया था कि इस समयावधि में सभी धार्मिक स्थल बंद रहेंगे.उत्तर प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अमरनाथ अग्रवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और आदित्यनाथ ने खुद कहा है कि लोगों को मंदिर, मस्जिद या गुरुद्वारा नहीं जाना चाहिए और अपने घरों पर ही रहना चाहिए .

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘लेकिन मुख्यमंत्री खुद अपने बयान के उलट जा रहे हैं.’ उन्होंने कहा कि बेहतर होता कि आदित्यानाथ घर पर ही पूजा कर उदाहरण कायम करते .मीडिया में इस अनुष्ठान की तस्वीरों में मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के साथ कई अधिकारी दिख रहे हैं, साथ ही पूजा करने के स्थान पर भी कई लोग बैठे नजर आ रहे हैं.

इससे पहले कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने भी मुख्यमंत्री की आलोचना करते हुए कहा था कि मुख्यमंत्री जी प्रधानमंत्री की बात नहीं मानते, भीड़ के साथ दर्शन कर रहे हैं तो ऐसे में कैसे प्रदेश की जनता प्रधानमंत्री जी की बात मानें?

Click on the ad to support Pal Pal News