लोकडाउन से मस्जिद में नमाज़ पर रोक के बाद लोगों ने अपने घरों में अदा की जुमे नमाज

कोरोना के खतरों को देखते हुए लोगों ने अपने घरों में अदा की जुमे नमाज

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
27 मार्च 2020 @ 17:30
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
People stopped to offer prayers in their homes after the stoppage of Namaz in the mosque with folkdown

जमीयत ए उलेमा हिन्द, जमात ए इस्लामी, जमीयत अहले हदीस समेत सभी प्रमुख मुस्लिम संगठनों की ओर से कोरोना वायरस के खतरों और देश भर में लॉक डाउन को देखते हुए जुमे की नमाज समेत हर दिन पढ़ी जाने वाली पांच वक्त की नमाजों को अपने अपने घरों में पढ़ने की अपील के बाद पहले शुक्रवार को इसका पूरा असर देखने को मिला। राजधानी के सभी इलाकों की मस्जिद में जुमे की अजान हुई और वहां रहने वाले इमाम, मोअज्जिन समेत चार छह लोगों ने नमाज अदा की।

सभी लोगों ने इसका सख्ती से पालन किया और सबने अपने घरों में नमाज पढ़ी। दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने देश के मुसलमानों से अपील की है कि हालत बेहद नाजुक हैं, कोरोना बीमारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। उन्होंने अपील की कि सभी लोग रोज की नमाज घर में ही पढ़ें। यहां तक कि शुक्रवार यानी जुमे नमाज भी घर में अदा करें। इससे पहले फतेहपुरी मस्जिद के इमाम मुफ्ती मुक्करम ने भी लोगों से अपील की थी कि यह बीमारी बहुत खतरनाक है।

जब यह बीमारी फैलती तब पता भी नहीं चलता। इसी वजह से सरकार ने लॉकडाउन किया और जो एहतियात बताई है उसका कर रहे है। मस्जिदों को भी बंद कर रखा है ताकि वहां भीड़ न हो। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने ट्वीट कर कहा ,'कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के कारण सभी मुस्लिम मस्जिदों में जुमे की नमाज अदा करने के बजाय घर पर ही नमाजÞ अदा करें। अपने साथी नागरिकों को हानि पहुंचाने से बचने के लिए यह अनिवार्य है।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें