इस्लाम के खिलाफ पोस्ट करने पर सऊदी अरब ने प्रोफेसर नीरज बेदी को यूनिवर्सिटी से निकाला

इस्लाम के खिलाफ पोस्ट करने पर सऊदी अरब (Saudi Arabia) ने 7 लाख रुपए प्रतिमाह कमाने वाले प्रोफेसर नीरज बेदी को यूनिवर्सिटी से निकाला, पूरी जानकारी के लिए वीडियो ज़रूर देखें।

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
19 मई 2020 @ 12:14
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Saudi Arabia

सोशल मीडिया पर मुस्लिम विरोधी नफ़रत और इस्लामोफोबिया पोस्ट को लेकर यूएई के बाद अब सऊदी अरब की एक यूनिवर्सिटी ने ट्विटर पर अपने नफरत भरे पोस्ट के लिए एक भारतीय प्रोफेसर नीरज बेदी को निकाल दिया है ।

इसकी जानकारी देते हुए खुद जाज़ान यूनिवर्सिटी ने अपने ट्विटर पर लिखा कि “विश्वविद्यालय के कुछ सदस्यों ने बताया कि यह आपत्तिजनक पोस्ट और इस्लामोफोबिक ट्वीट कर रहे हैं, इसलिए उनका पंजीकरण खत्म किया जाता है। जाज़ान विश्वविद्यालय इस बात की पुष्टि करता है कि यह लोगों मैं फूट डालने और अतिवादी विचारों के ख्याल रखते हैं जो हमारे पॉलिसी को प्रभावित करते हैं और अच्छे नेतृत्व के निर्देशों का उल्लंघन करते हैं।

ख्याल रहे कि प्रोफ़ेसर नीरज बेदी सऊदी अरब के जज़ान यूनिवर्सिटी में कम्यूनिटी मेडिसिन के प्रोफ़ेसर थे। इनकी सैलरी 35000 रियाल यानी इंडियन सात लाख रुपए प्रतिमाह थी।सऊदी में रहकर इस्लाम और मुसलमानों के खिलाफ ज़हर उगलने के कारण उन्हें यूनिवर्सिटी से बर्खास्त कर दिया गया है।

बता दें कि इन दिनों सऊदी अरब, कुवैत और यूएई के कई हिस्सों में मुस्लिम विरोधी टिप्पणियों को लेकर कई भारतीय हिन्दुओ को नौकरी से निकाला जा चुका है और कई को जेल भेजा जा चुका है।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें