सऊदी अरब ने दुनियां में मुसलमानों के खिलाफ भेदभाव को खत्म करने के लिए OIC से सख्त क़दम उठाने की मांग की

सऊदी अरब ने बढ़ते इस्लामोफोबिया और दुनिया के कुछ हिस्सों में मुसलमानों के खिलाफ घृणा फैलाने वाले भाषण पर चिंता व्यक्त की है।

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
29 मई 2020 @ 10:41
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Organization of Islamic countries denied Trump's Middle East peace plan

सऊदी अरब ने बढ़ते इस्लामोफोबिया  और दुनिया के कुछ हिस्सों में मुसलमानों के खिलाफ घृणा फैलाने वाले भाषण पर चिंता व्यक्त की है।

न्यूयॉर्क में इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) की संयुक्त राष्ट्र के राजदूत लाना ज़की नुसेबीह की अध्यक्षता में UAE के स्थायी प्रतिनिधि राजदूतों की एक आभासी बैठक के दौरान संयुक्त राष्ट्र के राजदूत अब्दुल्ला बिन याहिया अल मुल्लामी द्वारा चिंता व्यक्त की गई थी।

सऊदी समाचार एजेंसी SPA ने बताया कि सऊदी राजनायिक ने मुसलमानों के खिलाफ “भेदभाव और नस्लवाद पर चिंता जताते हुए इसे खत्म करने की मांग की है।

तो वहीं गल्फ न्यूज़ के अनुसार पिछले साल मक्का में आयोजित एक इस्लामी शिखर सम्मेलन में जारी घोषणापत्र का उल्लेख करते हुए याहिया अल मुल्लामी ने कहा कि यह इस्लाम की सहिष्णुता को साबित करता है

अल मुल्लामी ने कहा, “कुछ देशों में मुसलमानों के खिलाफ भेदभाव और नस्लवाद को खारिज करने के लिए OIC इस्लामी देशों के रुख का समर्थन करता है ।

उसी बैठक को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि,मुनीर अकरम ने बताया कि यूरोप के देशों में लगातार मुसलमानों के खिलाफ नफरत भरे भाषण दिये गये। और कोरोनावायरस जैसी महामारी के दौरान मुस्लिम प्रवासियों को यूरोपियन कंट्री से वापस भेजा गया।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें