तालिबान की वापसी के बाद 100 से अधिक पूर्व सैनिक मारे गए या गायब हुए: रिपोर्ट

काबुल पर कब्ज़े के वक़्त तालिबान ने पूर्व सरकारी कर्मचारियों को आश्वासन देते हुए कहा था कि अतीत में पुलिस,सेना या राज्य की अन्य शाखाओं के लिए काम करने वाले लोग सुरक्षित रहेंगे

Share
Written by
1 दिसंबर 2021 @ 13:23
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
taliban.jpg

काबुल: ह्यूमन राइट्स वॉच की एक रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि तालिबान की सत्ता में वापसी के बाद 100 से अधिक पूर्व अफ़ग़ान सुरक्षा बलों के लोगों की या तो तालिबान ने हत्या कर दी या फिर वे गायब हो गए हैं। 
ह्यूमन राइट्स वॉच की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि तालिबान नेतृत्व ने वादे के बावजूद स्थानीय कमांडरों ने पूर्व सैनिकों और पुलिस को निशाना बनाना जारी रखा है। बीबीसी के अनुसार ह्यूमन राइट्स वॉच ने तालिबान नेतृत्व पर अपने लड़ाकों द्वारा की जा रही इन हत्याओं को ‘शह’ देने का आरोप लगाया है। हाल ही में तालिबान के प्रवक्ता ने बदले की भावना से की गई हत्या की घटनाओं से इंकार किया था। अमेरिका ने 20 साल के युद्ध के बाद अफ़ग़ानिस्तान से अपने सैनिकों को वापस बुलाने का फैसला किया जिसके बाद अगस्त के मध्य में देश की अशरफ़ गनी की सरकार को हटा कर तालिबान ने काबुल को अपने कब्ज़े में ले लिया था। उस वक़्त तालिबान ने पूर्व सरकारी कर्मचारियों को आश्वासन देते हुए कहा था कि अतीत में पुलिस,सेना या राज्य की अन्य शाखाओं के लिए काम करने वाले लोग सुरक्षित रहेंगे। हम उनके खिलाफ़ कोई भी द्वेष नहीं रखते। 
लेकिन कई लोगों ने तालिबान की इस मंशा पर संदेह जताया है। तालिबान का सुरक्षा बलों के लोगों और नागरिक समाज के लोगों की हत्या करने का एक लंबा इतिहास रहा है। साल 2020 की शुरूआत से लेकर इस साल अगस्त में सत्ता में वापसी करने तक, लगभग 18 महीने तलिबान ने एक ख़ूनी अभियान चलाया जिसमें कई लोगों को निशाना बना कर हत्या की गई। पीड़ितों में न्यायधीश, पत्रकार और कार्यकर्ता भी शामिल हैं। विश्लेषकों का कहना है कि ये ख़ूनी अभियान सत्ता में वापसी से पहले संभावित आलोचकों को ख़त्म करने और ज़िंदा बचे लोगों में डर पैदा करने के लिए था। तालिबान इस समय वैश्विक स्तर पर पहचाने जाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहा है। देश में दुनिया से मिलने वाली राहत सामग्री और फंड ना मिल पाने सेआधारभूत चीज़ों का संकट गहराता जा रहा है। 

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें