तुर्की के राष्ट्रपति ने अरब देशों को कहा 'गद्दार'

तुर्की के राष्ट्रपति रेचेप तैयप एर्दोवान ने मध्य पूर्व को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की नई योजना पर सवाल उठाया है और इसका समर्थन करने वाले अरब देशों को 'गद्दार' कहा है.

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
4 फरवरी 2020 @ 14:47
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Turkish President calls Arab countries 'traitors'

हाल में तुर्की की राजधानी अंकारा में एक रैली के दौरान राष्ट्रपति एर्दोवान सऊदी अरब समेत अमेरिका का साथ देने वाले अरब देशों पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा, "कुछ अरब देश इस योजना का समर्थन कर रहे हैं. वे ना सिर्फ येरुशलम के खिलाफ, बल्कि खुद अपने लोगों और सबसे अहम पूरी मानवता से गद्दारी कर रहे हैं."

एर्दोवान इस्राएल के कड़े आलोचक हैं और फलस्तीनी लोगों की तरफ झुकाव रखते हैं. उन्होंने ट्रंप की योजना का समर्थन करने वाले देशों में सऊदी अरब, ओमान, बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात का नाम लिया और उनके रुख पर सवाल उठाया. उन्होंने कहा, "खास तौर से सऊदी अरब, तुम खामोश हो. तुम कब बोलोगे. तुम ओमान, बहरीन और इसी तरह अबु धाबी की तरफ देख रहे हो. शर्म करो, शर्म करो. (ट्रंप की योजना पर) ताली बजाने वाले हाथ अपनी इस गद्दारी का हिसाब कैसे देंगे." एर्दोवान ने कहा कि उनका देश पूरी तरह इस योजना को खारिज करता है जो "बुनियादी तौर पर फलस्तीन को तबाह करता है और येरुशलम के टुकड़े करता है."

पिछले दिनों राष्ट्रपति ट्रंप की तरफ से पेश मध्य पूर्व योजना में इस्राएल को पश्चिमी तट और जॉर्डन घाटी का नियंत्रण दिया गया है. साथ ही इस योजना के मुताबिक येरुशलम में कई अहम धार्मिक स्थल इस्राएल के पास ही रहेंगे. ट्रंप ने कहा कि येरुशलम इस्राएल की "अविभाजित राजधानी" रहेगा. अमेरिका येरुशलम को पहले ही इस्राएल की राजधानी के तौर पर मान्यता दे चुका है और 2017 में उसने वहां अपना दूतावास भी खोल दिया.

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें