इस्लामिक देशों के संगठन ने नकारा ट्रंप का मध्य-पूर्व शांति प्लान

इस्लामिक देशों के संगठन ऑर्गेनाइज़ेशन ऑफ़ इस्लामिक कोऑपरेशन ने मध्य-पूर्व को लेकर अमरीकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की शांति योजना को नकार दिया है.

Share
Written by
पल पल न्यूज़ वेब डेस्क
4 फरवरी 2020 @ 14:59
Organization of Islamic countries denied Trump's Middle East peace plan

ओआईसी ने अपने 57 सदस्य देशों से कहा है कि वो इस योजना को लागू करने में किसी तरह की मदद न करें. दुनिया के लगभग डेढ़ अरब मुसलमानों का प्रतिनिधित्व करने वाले इस संगठन ने सोमवार को जेद्दा में हुई बैठक के बाद कहा, "ओआईसी अमरीकी-इसराइल योजना को नकारती है क्योंकि ये फ़लस्तीनी लोगों के वैध अधिकारों और उम्मीदों को पूरा नहीं करता है और शांति प्रक्रिया की शर्तों का उल्लंघन करता है."

अमरीकी योजना के तहत पूरे यरूशलम शहर पर इसराइल का अधिकार होगा और इसराइल फ़लस्तीनी ज़मीनों पर बसाई गई यहूदी बस्तियों को अपने नियंत्रण में ले सकेगा.

ट्रंप की इस योजना के तहत इसराइल के पास अभिवाजित यरूशल रहेगा और फ़लस्तीनी इसराइल के क़ब्ज़े वाले पूर्वी यरूशलम के पास अपनी राजधानी घोषित कर सकेंगे. ओआईसी ने पूर्वी यरूशल में फ़लस्तीनी राष्ट्र की राजधानी को अपना समर्थन दिया और इसके अरबी और इस्लामी चरित्र पर ज़ोर दिया.

ओआईसी ने कहा कि इसराइली क़ब्ज़ा ख़त्म होने के बाद ही शांति आ सकेगी. सोमवार को हुई बैठक में ईरान शामिल नहीं हुआ. हालांकि ईरान पहले ही अमरीकी योजना की आलोचना कर चुका है. इसराइल और फ़लस्तीन के बीच जारी विवाद मध्य-पूर्व में संघर्ष की जड़ में है.

Click on the ad to support Pal Pal News