पाकिस्तान में प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले दागे गए

पूर्व प्रधानमंत्री इमरान ख़ान के के आज़ादी मार्च के बीच पंजाब प्रांत में हर ओर तनाव बढ़ गया

Share
पल पल न्यूज़ का समर्थन करने के लिए advertisements पर क्लिक करें
Subscribe to YouTube Channel
 
imran khan.jpg

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान ख़ान के आज़ादी मार्च के बीच पंजाब प्रांत में हर ओर तनाव बढ़ गया है। बुधवार को ऐसे कई वीडियो आए, जिसमें पुलिस पीटीआई कार्यकर्ताओं पर कार्रवाई करते देखी गई और आंसू गैस के गोले भी दागे गए हैं। इमरान ख़ान के लॉन्ग मार्च के एलान के बाद से ही इस्लामाबाद जाने वाले मुख्य राजमार्गों पर बेरिकेडिंग कर दी गई और जगह-जगह बड़े शिपिंग कंटेनर लगा दिए गए। हालाँकि, प्रदर्शनकारियों ने इन कंटेनरों को हटाने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस के साथ तनाव बढ़ गया। 
पीटीआई के अध्यक्ष इमरान ख़ान ने घोषणा की थी कि वो 25 मई को पेशावर से लॉन्ग मार्च शुरू करने के बाद इस्लामाबाद के डी-चौक पहुंचेंगे। इस एलान के बाद देश के गृहमंत्री राना सनाउल्लाह ने साफ़ कहा था कि किसी भी कार्यकर्ता को इस्लामाबाद में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। 
डॉन न्यूज़ के मुताबिक, इमरान ख़ान पेशावर से रवाना हो चुके हैं। कुछ वीडियो में पुलिस अधिकारियों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़पें भी देखी जा सकती हैं। पीटीआई ने एक वीडियो ट्वीट कर के ये दावा किया है कि शाहदरा इलाके में भी प्रदर्शनकारियों को रोका गया है। लाहौर में पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठियां भी बरसाई हैं। 

aansoo gas.jpg

इस बीच खबरों में बताया गया है कि अब शाहबाज सरकार भी आर-पार के मूड में है। पाकिस्तान सरकार ने कहा है कि उसने इमरान खान और उनकी पार्टी के अन्य शीर्ष नेताओं को बुधवार को पेशावर से इस्लामाबाद जाते हुए हिरासत में लेने का फैसला किया है।
दरअसल, पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने ऐलान किया था वे आजादी मार्च निकालेंगे और इसके बाद लाहौर में आजादी मार्च के लिए पीटीआई के कार्यकर्ता बड़ी संख्या में एकत्र हुए। पीटीआई की लाहौर इकाई ने अपने कार्यकर्ताओं को बत्ती चौक पर इकट्ठा होने के लिए कहा था, जहां से उन्हें इस्लामाबाद के लिए प्रस्थान करना था। इस बीच पूर्व संघीय मंत्री हम्माद अजहर ने सोशल मीडिया पर घोषणा की कि वह बत्ती चौक पहुंच गए हैं।
उधर बढ़ते जमावड़े को देखते हुए सरकार ने प्रदर्शन की इजाजत नहीं दी और इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी। पीटीआई कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए लाहौर के सभी प्रवेश और निकास मार्ग को बंद कर दिया गया है, जबकि पार्टी नेताओं के आवासों पर छापे मारे गए हैं, जिसके दौरान सांसद एजाज चौधरी और महमूदुर रशीद को गिरफ्तार किया गया था। लाहौर पुलिस ने दावा किया कि एक स्थानीय पीटीआई नेता के घर पर छापे के दौरान वहां से हथियार बरामद किए गए, जब एक पुलिस दल ने प्रांतीय राजधानी में उनके आवास पर छापा मारा।

लाहौर के बत्ती चौक पर एकत्र पीटीआई कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेटिंग की थी लेकिन कार्यकर्ताओं की भीड जब बेरिकेटिंग को तोड़ती हुई आगे बढ़ी तो पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे।
जब हालत बेकाबू हुई तो अधिकारियों ने एजेंसियों के बैठक में यह फैसला लिया कि इमरान खान को गिरफ्तार किया जाएगा। बताया जा रहा है कि लंबे मार्च के दौरान उन्हें गिरफ्तार करना एक असंभव कार्य प्रतीत होता है, फिर भी सरकार के पास संभावित हिंसा को रोकने के लिए उन्हें हिरासत में लेने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक खुफिया एजेंसियों की जानकारी के अनुसार पीटीआई कार्यकर्ता कानून प्रवर्तन एजेंसियों के किसी भी प्रतिरोध का मुकाबला करने के लिए अच्छी तरह से तैयार होंगे। सरकारी एजेंसियां अच्छी तरह से वाकिफ हैं कि ऐसी परिस्थितियों में टकराव संभव है, जिसे टाल पाना मुश्किल होगा। फिलहाल पुलिस और पीटीआई कार्यकर्ताओं के बीच झड़प जारी है।

पल पल न्यूज़ से जुड़ें

पल पल न्यूज़ के वीडिओ और ख़बरें सीधा WhatsApp और ईमेल पे पायें। नीचे अपना WhatsApp फोन नंबर और ईमेल ID लिखें।

वेबसाइट पर advertisement के लिए काॅन्टेक्ट फाॅर्म भरें